योगी आदित्यनाथयूपी सीएम योगी आदित्यनाथ की सुरक्षा और बढ़ाने का फैसला लिया गया है. सीएम योगी पर बढ़ते खतरे के मद्देनजर यह फैसला लिया गया है सूत्रों के मुताबिक उनकी सुरक्षा में राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (एनएसजी) की त्वरित प्रतिक्रिया टीम टीम (क्यूआरटी) भी तैनात रहेंगी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को फिलहाल ज़ेड प्लस सुरक्षा के साथ एनएसजी के ३५ कमांडो दिए गए थे. ये कमांडो सीएम योगी को मोबाइल सुरक्षा प्रदान कर रहे हैं. इस मोबाइल सुरक्षा में एक वक्त एनएसजी के ७ कमांडो तैनात रहते हैं. हालांकि अब इन कमांडोज़ के अलावा क्यूआरटी टीम भी योगी की निगरानी करेगी

इससे पहले द एशियन एज अखबार ने खुफिया एजेंसियों के हवाले से खबर दी थी कि लंदन में बैठे कुछ कश्मीरी आतंकी प्रधानमंत्री मोदी और मुख्यमंत्री की हत्या की साजिश रच रहे हैं. खुफिया एजेंसियों से मिले इस इनपुट के बाद सिक्योरिटी अलर्ट जारी कर दिया गया है. इस खबर में बताया गया कि करीब एक दर्जन से अधिक प्रशिक्षित आतंकी यूपी में दाखिल हो चुके हैं. स्लीपर सेल की मदद से फिलहाल वह अंडरग्राउंड हैं. इस अलर्ट के बाद यूपी के सभी जिलाधिकारियों और पुलिस अधिक्षकों को खास निर्दश दिए गए हैं.

मुख्यमंत्री बनने के साथ ही योगी आदित्यनाथ पर थ्रेट परसेप्शन भी बढ़ गया है. इसी के चलते गृह मंत्रालय ने कुछ दिन पहले योगी आदित्यनाथ को एनएसजी कमांडो की सुरक्षा देने का फैसला किया था. इससे पहले ये फैसला लिया गया था कि योगी आदित्यनाथ को जेड प्लस सुरक्षा घेरे में यूपी पुलिस की एक विशेष कमांडो टीम रखेगी और बाहर सीआईएसएफ की एक टुकड़ी तैनात रहेगी. खुफिया ब्यूरो के अनुसार सीएम पे जिस तरीके के खतरे का अलर्ट है, उसके आधार पर एनएसजी की सुरक्षा से बेहतर और कोई सुरक्षा नहीं हो सकती थी. देश भर में सुरक्षा के खतरे को देखते हुए कुल २९८ वीवीआईपी को अलग-अलग कैटेगरी की सुरक्षा दी गई है.खबर आजतक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here