प्रकाश जावड़ेकर कल नई दिल्ली में सेवाकालीन अप्रशिक्षित शिक्षकों को प्रशिक्षण हेतु केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ ओपन स्कूलिंग के एक उत्कृष्ट कार्यक्रम के दौरान प्रारंभिक शिक्षा में डिप्लोमा की शुरुआत की और यह शिक्षक प्रशिक्षण कार्यक्रम सभी सरकारी/सरकारी सहायता प्राप्त/निजी सहायता रहित मान्यता प्राप्त प्राथमिक स्कूलों के समस्‍त सेवाकालीन अप्रशिक्षित शिक्षकों के लिए तैयार किया गया हैं.

अब तक लगभग १५ लाख शिक्षकों को नामांकित किया गया हैं और यह शिक्षकों की प्रोफेशनल दक्षता बेहतर करने और सूचना एवं संचार आधारित क्षमता निर्माण सुनिश्चित करने के लिए नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ ओपन स्कूलिंग के ऑनलाइन और दूरस्थ शिक्षा मोड में एक पहल हैं. गुणवत्ता बढ़ाने के उद्देश्य से एनआईओएस देश भर में फैले सरकारी/सरकारी सहायता प्राप्त/निजी सहायता रहित मान्यता प्राप्त स्कूलों के सेवाकालीन शिक्षकों के प्रशिक्षण पहलुओं के तहत उनकी गुणवत्ता और उत्कृष्टता पर अपना ध्यान केंद्रित करता रहा हैं. इस अवसर पर प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि सभी अप्रशिक्षित शिक्षकों को मार्च, २०१९  तक प्रशिक्षित किया जाएगा.

शिक्षक और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा छात्रों के अधिकार हैं और उन्होंने यह भी कहा कि सरकार शिक्षा प्रणाली में सुधार के लिए प्रतिबद्ध हैं और सरकार ३१ मार्च २०१९ तक लगभग १५ लाख अप्रशिक्षित शिक्षकों को प्रशिक्षण देगी और पाठ्यक्रम के सफल समापन के बाद शिक्षकों को डिप्लोमा मिलेगा. उन्होंने यह भी बताया कि ‘स्‍वयं’ की शुरुआत के बाद पहले वर्ष में हमने ऑनलाइन प्रशिक्षण में विश्व रिकॉर्ड बनाया हैं. उन्होंने स्पष्ट रूप से कहा कि ३१ मार्च, २०१९ के बाद इस प्रशिक्षण कार्यक्रम की अवधि का कोई और विस्तार नहीं किया जाएगा|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here