पुलवामा

रविवार की सुबह जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में आतंकियों ने केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के ट्रेनिंग कैंप पर हमला किया था जिसमें पांच सुरक्षाकर्मी शहीद हो गए थे और सुरक्षाबलों ने दो आतंकियों को मार गिराया. इस मामले में केन्‍द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि आतंकियों ने कायरतापूर्ण काम किया हैं और हमें अपने बहादुर जवानों पर गर्व हैं. उन्‍होंने कहा कि उनका बलिदान खाली नहीं जाएगा और पूरा देश जवानों के परिवार के साथ हैं. पुलवामा जिले के लेथपोरा में सेंट्रल रिज़र्व पुलिस बल के कैम्प पर हुए हमले में रविवार शाम को सुरक्षाबलों ने सर्च ऑपरेशन रोक दिया था जो सोमवार सुबह फिर से शुरू कर दिया.

सुरक्षाबल एक-एक कर सभी इमारतों की तलाशी ले रहे हैं. वहीं आतंकियों ने रविवार तड़के दो बजकर पंद्रह मिनट पर फिदायीन हमला किया था. यह हमला सीआरपीएफ की १८५वीं बटालियन के कैम्प में दो से तीन आंतकवादी घुस गए थे. सीआरपीएफ के मुताबिक, आतंकियों ने पहले हथगोला फेंका और उसके बाद फायरिंग शुरू कर दी थी. बिल्डिंग को खाली करा लिया गया और यहां रहने वाले सारे लोगों को भी बाहर सुरक्षित निकाल लिया गया था.

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि दो से तीन आतंकवादियों ने सीआरपीएफ शिविर के मेन गेट के पास तैनात जवानों पर ग्रेनेड फेंके और ऑटोमैटिक हथियारों से अंधाधुंध गोलीबारी की. इसके बाद आतंकवादी कैम्प में घुस गए. पाकिस्तान आधारित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने इस हमले की जिम्मेदारी ली थी. जम्मू-कश्मीर में इस साल अब तक सुरक्षाबलों और पुलिस ने ‘ऑपरेशन ऑल आउट’ के तहत करीब २१० आतंकवादियों को मार गिराया हैं. आतंकवादी इसी से बौखलाए हुए हैं और सुरक्षा कैंपों को अपना निशाना बना रहे हैं| खबर एनडीटीवी इंडिया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here