फिल्म देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज पुरे दुनिया मे चहेते हो चुके हैं और चारों तरफ उनके चर्चे हैं इसी के बीच उन पर एक फ़िल्म भी बन रही हैं उस हिंदी फ़ीचर फ़िल्म का नाम ‘मोदी काका का गांव’ रखा गया हैं और शुक्रवार को देश भर के सिनेमा घरों में रिलीज होगी. फ़िल्म का पहले नाम ‘मोदी का गांव’ रखा गया था, जिसे बदलकर ‘मोदी काका का गांव’ कर दिया गया. फ़िल्म को कई वजहों से सेंसर प्रमाण पत्र दिए जाने से इनकार किया जा रहा था. अंतत: करीब ग्यारह महीने बाद फ़िल्म रिलीज हो रही हैं.

फ़िल्म प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विकास के एजेंडे से प्रेरित हैं. फ़िल्म के निर्माता सुरेश झा ने कहा कि पहले चरण में हिंदी फिल्म महाराष्ट्र, गुजरात, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, पूर्वी पंजाब व उत्तराखंड के ६०० स्क्रीनों पर रिलीज होगी. इसके बाद फिल्म को देश के दूसरे भागों में रिलीज की जाएगी. फ़िल्म ‘मोदी काका का गांव’ के प्रोमो, पोस्टर, बैनर मुबंई शहर व उपनगरों के कई सिनेमा हॉलों व मल्टीप्लेक्सों के अलावा देश के दूसरे शहरों में लग गए हैं.

केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड ने फिल्म को नवंबर के अंत में सेंसर सर्टिफिकेट दे दिया जिसके बाद फिल्म का रिलीज़ यह संभव हुआ. फ़िल्म को बीते फरवरी से आठ महीनों तक प्रमाणन बोर्ड से सर्टिफिकेट के लिए इंतजार करना पड़ा. सुरेश झा ने कहा कि फ़िल्म ‘मोदी के जीवन पर आधारित नहीं’ हैं, लेकिन फिल्म प्रधानमंत्री मोदी के दृष्टिकोण व देश के विकास के एजेंडे से प्रेरित हैं| खबर एनडीटीवी इंडिया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here