जेटली

वित्तमंत्री अरुण जेटली ने राफेल सौदे को लेकर कांग्रेस पर जबरदस्त पलटवार करते हुए कहा कि आखिर कांग्रेस को गुजरात चुनाव के समय ही क्यों ढाई साल पहले की गई डील याद आ रही हैं. कांग्रेस पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि इस बार चुनाव में विपक्ष ने कई बार रंग बदला और चुनाव शुरू होते ही विकास विरोधी कांग्रेस अब विकास का ही मजाक उड़ाने लगी हैं. जेटली ने कहा कि यह कांग्रेस का तरीका हैं. बीजेपी का मानना हैं कि इस तरह चुनाव अभियान सफल नहीं हो सकता. दरअसल, कांग्रेस उपाध्यक्ष ने राफेल डील को लेकर सवाल उठाए थे. जेटली ने कहा कि देश और गुजरात की जनता को एक अच्छे भविष्य की उम्मीद हैं. हम अपनी पार्टी के साथ मजबूती से खड़े हैं. जेटली ने कहा कि इस चुनाव को जीतने के लिए कांग्रेस ने समाज को बांटने की कोशिश की.

इसके चलते कांग्रेस ऐसी ताकतों की मोहताज हो गई, जो राज्य में सिर्फ अराजकता फैला सकती हैं. उन्होंने कहा कि गुजरात ऐसी अराजकता पहले ही भुगत चुका हैं. लिहाजा सूबे की जनता के उस दिशा में जाने का सवाल ही नहीं उठता. उन्होंने कहा कि अराजकता से निकल चुके गुजरात को विकास पसंद हैं. अब यह विकास पसंद राज्य बन चुका हैं. यह चुनाव सुशासन और अराजकता के बीच लड़ा जा रहा हैं. अरुण जेटली ने कहा कि कांग्रेस का चुनाव अराजकता वाला हैं. कांग्रेस नेतृत्व रास्ता भटक चुका हैं और कल्पनाओं में जी रहा हैं. यही वजह हैं कि कांग्रेस के नेता गुजरात में १७ हजार स्कूल कम होने की ख्याली बातें कर रहे हैं. इस दौरान उन्होंने कांग्रेस के उन आरोपों को खारिज कर दिया, जिसमें पार्टी ने कहा था कि बीजेपी सरकार ने उद्योगपतियों के १ लाख ३५ हजार करोड़ रुपये माफ कर दिए हैं. वित्तमंत्री ने कहा कि कांग्रेस इस बात का सबूत दे कि सरकार ने उद्योगपतियों के १ लाख ३५ हजार करोड़ रुपये के कर्ज माफ कर दिए हैं. कांग्रेस नेतृत्व को ऐसे गलत तथ्य रखते हुए शोभा नहीं देता हैं| खबर आजतक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here