राष्ट्रपतिराष्ट्रपति चुनने के लिए आज वोटिंग शुरू हो चुकी हैं और देश के संसद समेत सभी विधानसभा में वोटिंग हो रही हैं मुकाबला एनडीए के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद और विपक्ष की उम्मीदवार मीरा कुमार के बीच हैं लेकिन वोटिंग शुरू होते ही बसपा सुप्रीमो मायावती का एक बड़ा बयान आया, मायावती ने अपने बयान में कहा कि यह पहली बार हैं जब सत्ता और विपक्ष दोनों की ओर से दलित उम्मीदवार मैदान में उतारे गए हैं

मायावती ने कहा जीत या हार किसी की भी हो लेकिन राष्ट्रपति दलित ही होगा और मायावती ने ये भी कहा कि यह बाबा साहेब अंबेडकर, माननीय कांशीराम जी और बहुजन समाज पार्टी की देन हैं एनडीए के राष्ट्रपति उम्मीदवार रामनाथ कोविंद दलित जाति से हैं और मूलत: रूप से उत्तर प्रदेश से ही आते हैं और बिहार की मीरा कुमार भी दलित जाति की हैं

कोविंद के उम्मीदवार बनाए जाने के बाद विपक्ष ने भी पूर्व लोकसभा स्पीकर मीरा कुमार को अपना उम्मीदवार बनाया बता दें कि राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का कार्यकाल २४ जुलाई को खत्म हो रहा हैं और जिसके अगले दिन २५ जुलाई को नए राष्ट्रपति पदभार ग्रहण करेंगे आंकड़ों की बात की जाए तो बिहार के पूर्व राज्यपाल कोविंद की दावेदारी मजबूत नजर आ रही हैं

बता दें कि राष्ट्रपति चुनाव में हर सांसद के वोट का वैल्यू ७०८ हैं जबकि विधायकों के वोटों का मूल्य उनके राज्यों की आबादी के अनुसार होगा, जैसे उत्तर प्रदेश के एक विधायक के वोट का वैल्यू २०८, जबकि अरुणाचल जैसे कम आबादी वाले राज्य के विधायक के वोट का मूल्य ८ बैठता हैं ऐसे में कोविंद को निर्वाचक मंडल के कुल १०,९८,९०३ मतों में से ६३% से ज्यादा मत मिलने की संभावना हैं| खबर आजतक

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here