फलाहारीदेश में इन दिनों बाबाओं पे खूब शिकंजा कसा गया हैं और बलात्कार के आरोप में घिरे फलाहारी बाबा को अलवर पुलिस ने आखिरकार गिरफ्तार कर लिया हैं. बाबा ने गिरफ्तारी से पहले खूब नौटंकिया की मगर उसकी दाल नहीं गली. पुलिस उसे हिरासत में लेकर स्ट्रेचर पर लादकर एंबुलेंस से सरकारी अस्पताल ले आई, जहां तीन डॉक्टरों की मेडिकल टीम ने आरोपी बाबा को पूरी तरह से ठीक बताया.

इसके बाद पुलिस ने बाबा को खींचकर खड़ा किया और कोर्ट ले गई, जहां पुलिस ने कहा कि बाबा सारे गुनाह कबूल कर रहा हैं, लिहाजा पूछताछ की जरूरत नहीं हैं. इस पर कोर्ट ने बलात्कार के आरोपी फलाहारी बाबा उर्फ कौशलेंद्र प्रपन्नाचार्य को चौदह दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया. जेल जाने से पहले इस बाबा ने कहा कि हमें कोर्ट पर पूरा भरोसा हैं. जेल पहुंचते हीं आरोपी बाबा नारियल पानी मांगने लगा और कहा कि वो फल ही खाता हैं, लिहाजा जेल का भोजन नहीं खाएगा.

इसके लिए जेल अधिकारियों ने राज्य सरकार को लिखा हैं. तब तक शनिवार की रात बाबा पानी पीकर ही सोया हैं. कोर्ट में बाबा के वकील ने कहा कि बाबा काम वासना पर काबू पाने के लिए जड़ी बूटी का सेवन करते हैं. लिहाजा ६० साल की उम्र में नपुंसक हो गए हैं, जिस पर बाबा की पोटेंसी टेस्ट के भी आदेश हुए हैं. अलवर से जाने से पहले २१ साल की पीड़िता ने लोगों से हाथ जोड़कर कर अपील की हैं. पीड़िता ने कहा कि कभी किसी बाबा के चक्कर में मत पड़िए. पीड़िता के पिता ने आरोप लगाया कि बाबा कई औरतों को अपने हवस का शिकार बना चुका हैं| खबर आजतक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here