पीएमस्वतंत्रता दिवस की ७०वे वर्षगांठ पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लाल किले के बिच से देश को संबोधित करते हुए नोटबंदी, काला धन, बेनामी संपत्ति, डिजिटल ट्रांजैक्शन, रोजगार, किसानों की आमदनी आदि पर विस्तार से बात की और अपने ५५ मिनट के भाषण के दौरान प्रधानमंत्री ने न्यू इंडिया का खाका पेश करते हुए कहा कि नए भारत में भ्रष्टाचार, काला धन, कैश लेनदेन की प्रथा की कोई जगह नहीं बचेगी.

प्रधानमंत्री ने काले धन के खिलाफ सरकार की ओर से उठाए गए कदमों का जिक्र करते हुए कहा कि नोटबंदी से तीन लाख करोड़ रुपये बैंकिंग सिस्टम में लौट गए हैं. इसमें से जमा १.७५ लाख करोड़ रुपये का लेनदेन शक के दायरे में हैं और इसके अलावा १.२५ लाख करोड़ रुपये का काला धन जब्त भी किया जा चूका हैं. पीएम ने बताया कि नोटबंदी के बाद १८ लाख लोगों की घोषित और वास्तविक आय में अंतर पाया गया और ४.५ लाख लोग जवाब देने के लिए आगे आए.

उन्होंने बताया की इस प्रकार २ लाख करोड़ रुपये की ब्लैक मनी बैंकों तक पहुंच गई हैं. पीएम ने बताया कि सरकार ने तीन लाख शेल कंपनियों को पकड़ा हैं और इनमें से १.७५ लाख कंपनियों के रजिस्ट्रेशन रद्द कर दिए गए हैं. मोदी ने बताया की एक ही पते पर सैकडों कंपनियां चल रही थीं और यहाँ पूरी तरह मिलीभगत का खेल हो रहा था और किसी ने इस ओर देखने की कोशिश नहीं की.  पीएम के मुताबिक, ये सारी कंपनियां मनी लॉन्ड्रिंग में लिप्त थीं.

उन्होंने कहा कि काले धन पर सरकार की मंशा भांपकर एक अप्रैल से ५ अगस्त तक ५६ लाख नए करदाता सिस्टम से जुड़ गए जबकि एक साल पहले यह संख्या २२ लाख थी. वहीं, बेनामी संपत्ति के बारे में उन्होंने बताया की ८०० करोड़ रुपये की बेनामी संपत्ति जब्त की गई हैं. जीएसटी की वजह से कारोबारी दुनिया में आए बदलाव का जिक्र करते हुए पीएम ने कहा कि चेक पोस्ट्स के हटने की वजह से सामानों की आवाजाही में ३०% की तेजी आई हैं. वहीं, युवाओं के रोजगार को लेकर पीएम ने कहा कि आज के युवाओं को रोजगार ढूंढने की जगह रोजगार देने की क्षमता पैदा करनी चाहिए.

पीएम ने कहा कि मुद्रा योजना की वजह से ऐसा हो भी रहा हैं और मोदी के मुताबिक, मुद्रा योजना से लोन लेकर बड़ी तादाद में युवा अपना बिजनस खड़ा कर रहे हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किसानों की आय दोगुनी करने की दिशा में उठा जा रहे कदमों का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा कि सिंचाई के ९९ बड़े प्रॉजेक्ट्स पर काम चल रहा हैं जो अगले वर्ष तक पूरे कर लिए जाएंगे. पीएम ने कहा की हम सब ऐसा भारत बनाएंगे जहां किसान चिंता से नहीं, चैन से सोएगा और आज वो जितना कमा कर रहा हैं २०२२ तक उससे दोगुना कमाएगा| खबर नवभारतटाइम्स

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here