प्रधानमंत्री

कल गुजरात के वडनगर में सघन मिशन इंद्रधनुष का शुभारंभ किया प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने और उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम के जरिए भारत सरकार ने दो वर्ष की आयु के प्रत्येक बच्चे और उन गर्भवती माताओं तक पहुंचने का लक्ष्य रखा हैं जो टीकाकरण कार्यक्रम के अंतर्गत यह सुविधा नहीं पा सके हैं. विशेष अभियान के तहत टीकाकरण पहुंच में सुधार के लिए चुने हुए जिलों और राज्यों में दिसंबर २०१८ तक पूर्ण टीकाकरण से ९० प्रतिशत से अधिक का लक्ष्य रखा गया हैं.

मिशन इंद्रधनुष के अंतर्गत २०२० तक पूर्ण टीकाकरण का लक्ष्य रखा गया हैं. इसके तहत ९० प्रतिशत क्षेत्रों को शामिल किया जाना हैं और नरेन्द्र मोदी ने ये भी कहा की यदि इस टीके से किसी रोग का इलाज संभव हैं तो किसी भी बच्चे को टीके का अभाव नहीं होना चाहिए. परिसर में जनसमुदाय को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि सरकार ने टीकाकरण को लोगों को जन एवं सामाजिक आंदोलन बनाया हैं और लोगों से जोरदार अपील की हैं की वे मातृ एवं शिशु मृत्यु दर को रोकने के लिए चलाए जा रहे कार्यक्रम को अपनाए और इस दिशा में सरकार को सहयोग दें.

कार्यक्रम के दौरान गुजरात के मुख्यमंत्री विजय भाई रूपानी, केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री जे.पी. नड्डा, गुजरात की पूर्व मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल, गुजरात के उप-मुख्यमंत्री नितिनभाई पटेल, गुजरात के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण और चिकित्सा शिक्षा, पर्यावरण एवं शहरी विकास मंत्री शंकर भाई चौधरी सहित अन्य विशिष्ट व्यक्ति भी इस अवसर पर उपस्थित रहे|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here