राहुल अमेरिका के बर्कले, यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया में युवा छात्रों के साथ बात चित के दौरान कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी ने कश्मीर मुद्दे पर उठे एक सवाल का जवाब देते हुए कहा कि कश्मीर में आतंकवाद को कम करने के साथ-साथ एंटी इंडिया सोच को भी हमने खत्म किया था, लेकिन बीजपे ने अपने फायदे के लिए कश्मीर का नुकसान किया.

राहुल ने बताया की, ”कश्मीर मुद्दे पर ९ साल तक मैंने, भारत के पिछले प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, पी. चिदंबरम और जयराम रमेश के साथ मिलकर काम किया. कश्मीर में मैंने जब काम शुरू किया था, तब वहां आतंकवाद चरम पर था. इसके बावजूद हमने आतंकी सोच को कम करके शांति का माहौल स्थापित करने का काम किया. राहुल ने कहा, ”२०१३ में मैंने  मनमोहन सिंह को गले लगाकर कहा कि आप की सबसे बड़ी सफलता कश्मीर में आतंकवाद को कम करना हैं.

इस बात के लिए हमने बड़े-बड़े भाषण नहीं दिए इसके साथ ही उन्होंने कहा कश्मीर की अवाम का दिल जीतने के लिए छोटे स्तर पर लोगों से बात की और उनका विश्वास जीता. कश्मीर में हमने एंटी इंडिया की सोच को खत्म करके पंचायती राज काम किया. राहुल ने कहा कि यदि कश्मीर में सुरक्षाकर्मी मेरे पास खड़े हैं, तो मतलब कश्मीर में सब कुछ ठीक नहीं हैं. जबकि २०१३ में मेरे साथ सुरक्षाकर्मी नहीं बल्कि कश्मीरी लोग खड़े थे. लेकिन २०१४ में फिर ऐसे हालात बने कि कश्मीर में सुरक्षाकर्मियों की जरूरत पड़ गई| खबर आजतक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here