सिसोदिया

गुजरात चुनाव प्रचार के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के मंदिरों में जाने पर व्यंग्य करते हुए दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि काश नेताओं में चुनाव से पहले सरकारी स्कूलों के दर्शन करने की परंपरा होती. दोनों बड़े राजनीतिक दलों के प्रमुख नेताओं के मंदिर में जाने पर चुटकी लेते हुए सिसोदिया ने देश की शिक्षा व्यवस्था पर भी चोट की हैं.

सिसोदिया ने ट्वीट करते हुए लिखा की अगर चुनावों से ठीक पहले ‘मंदिर-दर्शन’ की जगह ‘सरकारी स्कूलों के दर्शन’ की राजनीतिक परम्परा होती तो देश के हर बच्चे को आज बेहतरीन शिक्षा मिल रही होती. गौरतलब हैं कि गुजरात विधानसभा के मद्देनजर चुनाव प्रचार के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी लगातार प्रदेश के प्रसिद्ध मंदिरों में जा कर पूजा अर्चना कर रहे हैं. पिछले दिनों प्रधानमंत्री मोदी ने प्रदेश के प्रसिद्ध द्वारकाधीश और सोमनाथ मंदिर सहित अन्य मंदिरों में पूजा की कांग्रेस उपाध्यक्ष ने भी बुधवार को सोमनाथ मंदिर में पूजा की.

हालांकि उनकी इस पूजा पर राजनीति भी मची हुई हैं. विवाद की वजह यह हैं कि राहुल गांधी यहां गैर हिंदू की हैसियत से पहुंचे थे. हालांकि इस मामले में कांग्रेस की सफाई आई हैं. कांग्रेस के प्रवक्ता आरएस सुरजेवाला ने कहा कि राहुल गांधी न केवल हिंदू हैं, बल्कि वे ‘जनेऊ धारी’ हैं. बता दें कि दिल्ली के उपमुख्यमंत्री तथा शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया पहले भी शिक्षा के मामले में बीजेपी और कांग्रेस को चुनौती दे चुके हैं| खबर जी न्यूज़

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here