भारत

१९४७ में बंटवारे के बाद काट दी गई थी बांग्लादेश और भारत के बीच रेल लाइन और अब बांग्लादेश के रेल मंत्री मुजीबुल हक ने कहा हैं कि भारत के साथ १२ स्थानों पर रेल लाइनों को फिर से जोड़ने की पहल शुरू कर दी गई हैं . उन्होंने शुक्रवार शाम यहां संवाददाताओं से बताया की हम उन सभी रेल लाइनों को फिर से जोड़ना चाहते हैं जो भारत के बंटवारे से पहले मौजूद थीं. अभी भारत और बांग्लादेश के बीच १२ स्थानों पर रेल लाइन को बहाल करने की पहल की जा रही हैं.

इस संबंध में दोनों सरकार एक-दूसरे का सहयोग कर रही हैं. हक यहां दोनों देशों के रोटरी क्लबों द्वारा आयोजित एक सम्मेलन में शामिल होने आए थे. त्रिपुरा के मुख्यमंत्री माणिक सरकार ने सम्मेलन का उद्घाटन किया. बांग्लादेश के मंत्री ने कहा कि भारत से मिली वित्तीय मदद के साथ उनके देश के ब्राह्मणबाड़िया जिले में तितास और भैरव नदियों पर दूसरे रेल पुल का निर्माण पूरा हो गया हैं और इसका उद्घाटन शीघ्र किया जाएगा. उन्होंने कहा कि ढाका और कोलकाता के बीच चलने वाली मैत्री एक्सप्रेस के अतिरिक्त दूसरी ट्रेन बंधन एक्सप्रेस बांग्लादेश और कोलकाता के बीच चलेगी और इसकी शुरुआत अगले महीने होने की संभावना हैं| खबर जी न्यूज़

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here