अनिल विजअपने बयानों की वजह से अक्सर विवादों में घिर रहने वाले हरियाणा के वरिष्ठ मंत्री अनिल विज ने कहा कि हिन्दू कभी आतंकवादी नहीं हो सकता, यहाँ तक की ‘हिन्दू आतंकवाद’ जैसी कोई संज्ञा ही नहीं हो सकती और अनिल विज ने केंद्र की पिछली संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन की यूपीए सरकार पर वर्ष २००७ में समझौता एक्सप्रेस ट्रेन में ब्लास्ट करने वाले पाकिस्तानियों को इसीलिए रिहा करने का आरोप लगाया

ताकि दोष उनके सिर मढ़ा जा सके, जिसे कांग्रेस ने कभी ‘हिन्दू आतंकवाद’ कहा था. वही कांग्रेस को बीजेपी द्वारा किए गए तीखे हमलों के बाद इस बयान से पीछे हट कहना पड़ा था कि आतंकवाद का कोई धर्म या रंग नहीं होता और पिछले तीन सालों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विदेशमंत्री सुषमा स्वराज भी देश-विदेश में कई बार कह चुके हैं कि आतंकवाद का कोई धर्म नहीं होता. पर अनिल विज ने कहा कि स्वभाव से ही हिन्दू कभी आतंकवादी बन ही नहीं सकते

क्योंकि हिन्दुओं को आतंकवाद कभी नहीं सिखाया गया उन्होंने कहा यदि हिन्दू आतंकवादी होते तो क्षेत्र में कभी कोई अन्य आतंकवादी होता ही नहीं. समझौता एक्सप्रेस ब्लास्ट में शामिल संदिग्धों के कुछ साल पहले पाकिस्तान लौट जाने की रिपोर्टों के बारे में अनिल विज से पूछे जाने पर उन्होंने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि यह बहुत गंभीर मामला हैं की उन्हें पाकिस्तान लौटने दिया गया.

इसके साथ ही अनिल विज ने केंद्र सरकार से ट्रेन में हुए विस्फोट की एक बार पुनः जांच करवाने की मांग की, लेकिन साथ ही यह भी कहा कि दोबारा जांच का कोई फायदा नहीं होगा, क्योंकि आरोपी पहले ही पाकिस्तान पहुंच चुके हैं| खबर एनडी टीवी इंडिया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here