हाईवेहुए कैबिनेट बैठक के दौरान भारतमाला के पहले चरण को कैबिनेट की मंजूरी मिल गई हैं. ये प्रोजेक्ट देश के अब तक का सबसे बड़े हाईवे प्लान के तहत हैं और इसके तहत अगले ५ वर्षों के दौरान लगभग ८३ हजार किमी से ज्यादा लंबे हाईवे का निर्माण किया जाएगा. प्रोजेक्ट के तहत पहले चरण में २४,८०० किलोमीटर का नेशनल हाइवे बनाया जाएगा. प्रोजेक्ट के लिए अगले तीन से छः महीने में बोलियां मंगाई जाएंगी. २०१८ वित्त वर्ष में ४५०० किमी हाइवे के लिए ठेके दिए जाने हैं.

इस प्रोजेक्ट के तहत हर साल सात हज़ार से दस हज़ार किमी तक की सड़क बनाई जाएगी. प्रोजेक्ट की लागत का २० फीसद हिस्सा सरकार खुद वहन करेगी. प्रोजेक्ट के पहले चरण के तहत साढ़े तीन लाख करोड़ रुपए का निवेश होगा. इसमें करीब ४४ इकोनॉमिक कॉरिडोर बनाए जाएंगे. सबसे पहले २० इकोनॉमिक कॉरिडोर पर काम शुरू होगा. कार्गो ट्रैफिक के लिए चार लेन हाइवे बनेंगे. एक कॉरिडोर से दूसरे कॉरिडोर में सामान तेजी से भेजा जा सके| खबर जी न्यूज़

क्या हैं प्रोजेक्ट

  1. भारतमाला सरकार का एक मेगा हाईवे प्‍लान हैं.
  2. यह एनएचडीपी के बाद दूसरा सबसे बड़ा हाइवे प्रोजेक्‍ट हैं, जिसमें करीब ५० हजार किमी हाइवे डेवलपमेंट हुआ.
  3. पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने नेशनल हाइवे डिवेलपमेंट प्रॉजेक्ट शुरू किया था. इसे कई फेज में लागू किया गया और इसमें मेट्रो शहरों को जोड़ने के लिए स्‍वर्णिम चतुर्भुज योजना भी शामिल थी.
  4. एनएचडीपी के तहत करीब १० हजार किमी रोड अभी बनाए जाने हैं|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here