जीएसटीपूरे देश में आज एक जुलाई से जीएसटी (वस्तु एवं सेवा कर) लागू हो चूका हैं. अब केंद्र और राज्यों के स्तर पर लगने वाले १७ केंद्रीय और राज्य स्तरीय टैक्स के साथ-साथ २३ अलग-अलग तरह के सेस के बदले केवल जीएसटी देना होगा. इस तरह से सरकार के ‘वन नेशन वन टैक्स’ का सपना भी पूरा हो गया. सरकार की इस बहुप्रतिक्षित योजना के लागू होने के बाद नमक, तेल, साबुन जैसी रोजमर्रा की जरूरी वस्तुओं के दाम में कोई बदलाव नहीं हुआ.

क्या होगा सस्ता और महंगा जीएसटी लागू होने के बाद कई भागों में टैक्स लगाया जाएगा. इन जरूरत की सामानों पर नहीं लगेगा टैक्स. जैसे कि सब्जी, फ्रेश मीट, चिकन, मछली, अंडे, दूध, दही, आटा, ब्रेड आदि. इन सभी को 0% स्लैब में रखा गया है. दूसरा स्लैब है ५% का है, जिसमें चाय, कॉफी, मिल्क पाउडर, रस, साबुतदाना, पिज्ज़ा ब्रेड, ब्रांडेड पनीर व अन्य कुछ प्रोडेक्ट हैं. १२% के स्लैब में घी, चीज़, मक्खन, फ्रोजन मीट, सॉस, ड्राई फ्रूट, नमकीन, फ्रूट जूस आदि सामान रहेंगे.

कई ऐसी वस्तुएं भी हैं जिन पर १८% टैक्स लगेगा. इस लिस्ट में केक, पेस्ट्रीज़, बिस्कुट, कॉर्नफ्लेक्स, जैम, सलाद, सूप और आइसक्रीम आदि हैं. जीएसटी स्लैब में सबसे महंगा स्लैब है २८% का हैं जिसमें चॉकलेट, वेफर, ड्रिंक्स, आदि जैसे प्रोडेक्ट शामिल हैं |

कुछ प्रमुख टैक्स जो होंगे ख़तम

-सेंट्रल एक्साइज ड्यूटी 
-एडिशनल कस्टम ड्यूटी 
-सर्विस टैक्स 
-सीवीडी -एसएडी 
-वैट -सेल्स टैक्स 
-मनोरंजन कर 
-ऑक्टाय एंड एंट्री टैक्स 
-परचेज टैक्स -लक्जरी टैक्स

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here