सुरजेवाला

कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने सत्ताधारी बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा कि सत्ताधारी पार्टी कहती हैं ‘खाऊंगा और खाने दूंगा, और पैक करके ले जाने दूंगा.’ लगता हैं ये सरकार का नया नारा हो गया हैं. ३१ हजार करोड़ का घोटाला सामने हैं. मोदी सरकार इस पर खामोश हैं. जन धन गबन योजना अब तो ये ३९ हजार करोड़ तक पहुंच गई हैं.’ एक ओर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश से भ्रष्टाचार को खत्म करने की बात करते हैं तो दूसरी तरफ विपक्षी कांग्रेस पार्टी लगातार दावा कर रही हैं कि यह सरकार भ्रष्टाचार को बढ़ावा दे रही हैं. मोदी राज में लगातार घोटाले हो रहे हैं और सरकार ने चुप्पी साध रखी हैं. सुरजेवाला का कहना हैं कि सरकार भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने में नाकाम रही हैं.

एक के बाद एक बैंक घोटाले सामने आने के बाद बैंक घोटाले की रकम बढ़कर ३९ हजार करोड़ रुपये तक पहुंच गई हैं. कांग्रेस नेता का आरोप हैं कि मोदी शासनकाल में बड़े उद्योगपतियों का देश छोड़कर भागने का सिलसिला जारी हैं. विजय माल्या, नीरव मोदी और मेहुल चोकसी की तरह जतिन मेहता भी देश छोड़कर भागने में कामयाब रहे हैं. सुरजेवाला ने कहा कि जतिन की तीन कंपनियों ने बैंकों को ६७१२ करोड़ रुपये की बड़ी चपत लगाई. इसका भी तरीका वही हैं, जो नीरव मोदी का था. मोदी सरकार और महाराष्ट्र सरकार को साढ़े तीन साल से इसकी जानकारी थी, लेकिन जतिन मेहता पत्नी समेत विदेश भाग गए.

उन्होंने आगे कहा कि जतिन मेहता की कंपनी विनसम डायमंड एंड ज्वैलरी ग्रुप के मुखिया हैं. बैंकों में इनकी शिकायत होती रही हैं. २०१५ में कंपनी की बैलेंस शीट दर्शाता हैं कि उनके खिलाफ सीबीआई और ईडी के नोटिस जारी हुए हैं. सुरजेवाला ने आरोप लगाया कि जतिन मेहता बैंकिंग सिस्टम को चूना लगाने में कामयाब कैसे हो गए क्योंकि सीबीआई ने साढ़े तीन साल तक एफआईआर दर्ज नहीं की और महाराष्ट्र सरकार और आर्थिक अपराध शाखा पता नहीं क्या करते रहे| खबर आजतक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here