पद्मावती

कल मंगलवार को केंद्रीय मंत्री बीरेंद्र सिंह ने कहा कि संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती का विरोध कर रहे लोगों को पहले फिल्म देखनी चाहिए और तब कुछ आपत्तिजनक पाए जाने पर दृश्यों को फिल्म से हटाने की मांग करनी चाहिए. फिल्म में ऐतिहासिक तथ्यों से छेड़छाड़ का आरोप लगाने वाले विभिन्न संगठनों के विरोध और उनकी ओर से दी जा रही धमकियों के कारण पद्मावती के निर्माताओं ने इसकी रिलीज की तारीख टाल दी हैं सिंह ने कहा की ‘मेरी राय बहुत साफ हैं हो सकता हैं कि कुछ ऐतिहासिक तथ्य हमारी सोच के अनुसार नहीं हों विरोध करने वालों को पहले फिल्म देखनी चाहिए

और यदि उन्हें ऐसा कुछ दिखता हैं जिससे उनकी भावनाएं आहत हो रही हैं तो वे निर्माताओं से कह सकते हैं कि उन हिस्सों को हटाएं’ उन्होंने कहा कि हमारे देश के इतिहास को ज्यादा वास्तविक तरीके से खंगाला जाना चाहिए. इस्पात मंत्री ने कहाकी ये फिल्में निश्चित तौर पर इतिहास पर आधारित हैं और मैं कुछ ऐसे निर्देशकों को जानता हूं जो काफी मेहनत करके इतिहास के हर पहलू का अध्ययन करते हैं. लेकिन लोकप्रिय संवेदनाओं का भी सम्मान किया जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि ऐतिहासिक तथ्य अहम हैं और ‘सही परिपेक्ष्य’ में उनका विश्लेषण करना चाहिए| खबर जी न्यूज़

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here