काबुलअफगानिस्तान की राजधानी काबुल में भारतीय दूतावास के समीप हुआ धमाका जिसमें तक़रीबन ५० लोगों की मौत और ६० के घायल होने की संभावन बताई जा रही हैं हांलाकि काबुल में सभी भारतीय कर्मचारी सुरक्षित हैं और धमाके के बाद उठे धुएं से अंदाजा लगाया जा सकता हैं कि धमाका कितना बड़ा हुआ होगा काबुल में भारतीय दूतावास की इमारत के दरवाजों और खिड़कियों को नुकसान पहुंचा हैं

इस मामले के बाद भारत की विदेशमंत्री सुषमा स्वराज ने अपने ट्वीट के जरिए बताया की काबुल में भारतीय दूतावास के सभी कर्मचारी सुरक्षित हैं, पर अभी तक यह स्पस्ट नहीं हुआ की धमाके के निशाने पर कौन था सूत्रों के अनुसार भारतीय दूतावास इसका निशाना नहीं था जिस इलाके में धमाका हुआ वहा से राष्ट्रपति आवास बहुत दूर नहीं था और आसपास कई दूतावास भी हैं अब तक किसी ने हमले की जिम्मेदारी तो नहीं ली हैं

इससे पूर्व १३ मई को काबुल में एक कार पर हथगोले से किए गए हमले में कम से कम तीन आम नागरिकों की मौत हो गई गृह मंत्रालय के उपप्रवक्ता नजीब दानिश ने बताया कि शनिवार के हमले में मरने वालों में जल आपूर्ति विभाग की दो सरकारी महिला कर्मचारी और एक छोटा बच्चा हैं दानिश ने कहा कि गाड़ी का चालक जख्मी हुआ हैं और किसी भी समूह ने इस हमले की जिम्मेदारी नहीं ली दानिश ने बताया कि एक दिन पहले ही तालिबान नियुक्त उप गवर्नर और जिला प्रमुख सहित १० विद्रोही समंगान प्रांत में मारे गए थे | खबर एनडीटीवी इंडिया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here