क्रिसमस हिंदू जागरण मंच ने यूपी के अलीगढ़ में क्रिसमस मनाने को लेकर स्कूलों को धमकी भरा पत्र लिखा हैं. मंच ने क्रिश्चियन स्कूलों पर पर्व के जरिए ईसाई धर्म को बढ़ावा देने का आरोप लगाया हैं. इस पत्र में हिंदू जागरण मंच ने लिखा हैं कि स्कूलों में ईसाई बच्चों की संख्या बेहद कम होने के बावजूद २५ दिसंबर को क्रिसमस डे मनाया जाता हैं. इस मौके पर कार्यक्रमों के जरिए स्कूलों में आने वाले हिंदू बच्चों अनिवार्य रूप से शामिल किया जाता हैं.

जागरण मंच ने आरोप लगाया हैं कि स्कूल इस तरीके से ईसाई धर्म का प्रभाव हिंदू बच्चों पर डालने की कोशिश कर रहे हैं और उनकी मानसिकता को दूषित करने की साजिश रच रहे हैं. मंच ने स्कूलों पर धर्मांतरण का हिस्सा बनने पर भी सवाल खड़े किए हैं. इस लैटर के सामने आने के बाद पुलिस-प्रशासन भी हरकत में आ गया हैं. अलीगढ़ प्रशासन ने इलाके के सभी क्रिश्चियन और मिशनरी स्कूलों के मैनेजमेंट से मुलाकात की और उन्हें पूरे सहयोग का आश्वासन दिया हैं.

प्रशासन ने कहा हैं कि किसी को भी क्रिस्मस प्रोग्राम में दखल नहीं देने दी जाएगी. अलीगढ़ के एसएसपी ने बताया कि उन्हें अब तक इस संबंध में कोई शिकायत नहीं मिली हैं. लेकिन अगर ऐसा हैं तो ये गंभीर मामला हैं और किसी को इसकी इजाजत नहीं दी जाएगी. हालांकि, जागरण मंच से जुड़े लोगों का कहना हैं कि उन्होंने ऐसे स्कूलों के लिए ये पत्र जारी किया हैं, जहां अनिवार्य रूप से हिंदू बच्चों को कार्यक्रम में शिरकत के लिए बुलाते हैं| खबर आजतक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here