भगवद्गीता उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली सरकार ने प्रदेश के सभी स्कूलों में भगवद्गीता पर आधारित गायन प्रतियोगिताएं करवाने के निर्देश दिए हैं. इन प्रतियोगिताओं के नतीजों के आधार पर इस महीने के आखिरी में प्रदेश की राजधानी लखनऊ में राज्य स्तर की एक प्रतियोगिता का आयोजन किया जाएगा. सरकार ने शिक्षा विभाग के सभी मंडलों के संयुक्त निदेशकों को कहा कि वो सुनिश्चित करें कि सभी सरकारी व सरकारी सहायता प्राप्त और निजी स्कूलों में जिला और मंडल स्तर पर भगवद्गीता प्रतियोगिताएं आयोजित करवाई जाएं.

अधिकारियों ने गुरुवार को यहां कहा कि इस महीने के अंत में राज्य स्तर की प्रतियोगिता के लिए गायकों या टोलियों के नामों के चयन का काम ११ से १५ दिसंबर तक जिला और मंडल स्तर पर होगा. रिपोर्ट्स के अनुसार ११ से १५ दिसंबर के बीच जिला और मंडल स्तर पर विद्यार्थियों के नाम शॉर्ट लिस्ट किए जाएंगे. साथ ही संगीत, गीता, हिन्दी और संस्कृत में विशेषज्ञता रखने वालों का एक पैनल सर्वश्रेष्ठ गायक या गायिका का चयन करेगा. भगवद्गीता प्रतियोगिता के दौरान प्रतिभागियों को उनके उच्चारण और गायन के आधार पर शॉर्ट लिस्ट किया जाएगा. माध्यमिक शिक्षा महकमे ने कहा कि इस प्रतियोगिता के लिए छात्र पर आने वाले तमाम खर्चों को संबंधित स्कूल प्राधिकारी वहन करेंगे| खबर आजतक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here