गोरखपुर

भारतीय जनता पार्टी उत्तर प्रदेश उपचुनाव में गोरखपुर और फूलपुर सीट पर जारी मतगणना में अब तक आए रुझानों में दोनों सीटों पर पिछड़ती दिख रही हैं. समाजवादी पार्टी ने गोरखपुर सीट पर मतगणना में गड़बड़ी का आरोप लगाया हैं. आरोप हैं कि बीजेपी प्रत्याशी को पिछड़ते देख स्थानीय डीएम ने मतगणना की सूचना जारी करने पर रोक लगा दी. नौ राउंड की गिनती हो चुकी थी, लेकिन केवल पहले राउंड के रुझान जारी किए गए.

खबर अपडेट किए जाने तक सपा के मतगणना एजेंट और पूर्व विधायक विजय बहादुर यादव ने बताया कि सातवें राउंड की गिनती पूरी हो चुकी हैं. गोरखपुर में सपा के प्रवीण निषाद ९६७२ वोटों से आगे चल रहे हैं. सपा नेता नरेश उत्तम पटेल ने राज्य के मुख्य चुनाव अधिकारी को पत्र लिखकर शिकायत की हैं कि प्रशासन बीजेपी प्रत्याशी को जीत दिलाने की कोशिश कर रही हैं. पत्र में आरोप लगाया गया हैं कि गोरखपुर में मतगणना शुरू होने के तुरंत बाद प्रशासन ने मतगणना केंद्र पर लाठीचार्ज शुरू कर दी.

इसी बहाने वहां से सपा और बसपा के कार्यकर्ताओं को खदेड़ दिया गया. मतगणना केंद्र से मीडियाकर्मियों को भी हटा दिया गया हैं, ताकि सूचना लीक न हो सके. इससे पहले मतगणना शुरू होने के ठीक बाद समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी प्रवीण निषाद ने कहा कि उन्हें हराने के लिए राज्य सरकार प्रशासन का दुरुपयोग करेगी. प्रवीण निषाद ने आरोप लगाया कि वोटों की गिणती शुरू होते ही मतगणना केंद्र से उनके प्रतिनिधि को बाहर कर दिया गया हैं.

उन्होंने आरोप लगाया कि इससे पहले भी गोरखुपर में बीजेपी वोटों की गिणती में हेरफेर करके साल १९९९ में जमुना प्रसाद निषाद को हरा चुके हैं. प्रवीण निषाद ने आरोप लगाया कि बीजेपी इस बार भी ईवीएम बदलकर मतगणना में गड़बड़ी कर सकती हैं. मालूम हो कि योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद से गोरखपुर सीट खाली हुई हैं. वहीं केशव प्रसाद मौर्य के उपमुख्यमंत्री बनने के बाद फूलपुर लोकसभा सीट खाली हुई हैं| खबर जी न्यूज़

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here