अपराधी

बीते ४८ घंटो में कम से कम १८ एनकाउंटर किए गए उत्तर प्रदेश मे और २५ वॉन्टेड अपराधियों को पकड़ा गया हैं. आँकड़े बताते हैं की यूपी मे अपराधियों की शामत आ गई हैं. कन्नौज में एनकाउंटर के दौरान दो पुलिसवाले घायल हुए, और अपराधी भागने में सफल रहे. इससे पहले ३३ आपराधिक मामलों के आरोपी गैंगस्टर इंद्रपाल को पुलिस ने मुज़फ्फरनगर में ढेर कर दिया. उस पर २०१३ में हरिद्वार में पुलिसवाले की हत्या का आरोप था. उत्तर प्रदेश के नए डीजीपी समेत बड़े पुलिस अधिकारी एनकाउंटर पॉलिसी का बचाव करते हुए दलील दे रहे हैं कि

पुलिस बस आत्मरक्षा यानी सेल्फ डिफेंस में गोली चलाती हैं. योगी सरकार बनने के बाद एक साल भीतर ९५० एनकाउंटर हुए हैं, जिसमें २०० लोगों को गिरफ़्तार किया गया हैं. वहीं ३० मारे गए हैं. लेकिन एनकाउंटर में मुज़फ्फरनगर में एक बच्चे की भी मौत हो गई. वहीं दिल्ली के ओखला में हुई मुठभेड़ में पश्चिमी उत्तर प्रदेश के नामी शार्प शूटर तनवीर को भी पकड़ लिया गया और दिल्ली पुलिस ने उसे दो गोलियां मारी थीं लेकिन उसने बुलेट प्रूफ जैकेट पहन रखी थी. गौरतलब हैं कि विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने सूबे की बिगड़ती कानून व्यवस्था को भी चुनावी एजेंडा बनाया था.

लेकिन जब राज्य में सरकार बनी तो अचानक से अपराध बढ़ते चले गए. इससे योगी सरकार की खूब फ़ज़ीहत हुई. इसके बाद सीएम योगी ने अपराधियों पर लगाम लगाने के लिए कई सख्त आदेश दिए. लेकिन विपक्षी दल लगतार हो रहे एन्काउंटर पर सवाल उठा रहे हैं. एक दिन पहले ही नोएडा में फर्जी एन्काउंटर का आरोप लगा हैं. हालांकि पुलिस की ओर से सफाई दी जा रही हैं कि ये फर्जी एनकाउंटर नहीं दुश्मनी का मामला हैं| खबर एनडीटीवी इंडिया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here