रेल

जो रेल कर्मचारी, लंबे समय से बिना किसी अनुमति के अनुपस्थित चल रहे हैं, या फिर सरकारी नौकरी के नाम पर बिना उपस्थिति दर्ज कराएं, मौज काट रहे हैं, उनके ऊपर अब रेल मंत्रालय का डंडा चलने वाला हैं. दरअसल, भारतीय रेलवे ने ऐसे १३,००० कर्मचारियों की पहचान की हैं जो कि लंबे समय से ‘अनाधिकृत’ रूप से अनुपस्थित चल रहे हैं. इन कर्मचारियों की सेवाएं समाप्त करने की अनुशासनात्मक कार्रवाई शुरू की गई हैं.

रेलवे के बयान में कहा गया कि मंत्रालय ने संगठन का प्रदर्शन बेहतर करने और निष्ठावान व मेहनती कर्मचारियों का मनोबल बढ़ाने के लिए एक अभियान शुरू किया था. यह कार्रवाई इसी अभियान का हिस्सा हैं. इसके अनुसार, ‘रेलवे के विभिन्न प्रतिष्ठानों में लंबे समय से अनुपस्थित कर्मचारियों की पहचान करने के लिए एक व्यापक अभियान शुरू किया गया. इस अभियान के परिणाम में रेलवे ने अपने लगभग १३ लाख कर्मचारियों में से १३ हजार से भी अधिक ऐसे कर्मचारियों की पहचान की हैं,

जो लंबे समय से अनाधिकृत तौर पर अनुपस्थित हैं. इसके अनुसार रेलवे ने इन अनुपस्थित कर्मचारियों की सेवाएं समाप्त करने के लिए नियमों के तहत अनुशासनात्मक कार्रवाई शुरू की हैं. रेलवे ने सभी अधिकारियों और पर्यवेक्षकों को उचित प्रक्रिया पर अमल के बाद कर्मचारियों की सूची से इनका नाम हटाने का निर्देश दिया हैं| खबर एनडीटीवी इंडिया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here