हवाई सफर आसमान छू सकते हैं हवाई सफर के दाम

इन दिनों गर्मी की छुट्टीयों में घूमना होगा महंगा क्योंकि इस गर्मी भारत में घरेलू हवाई सेवा के किराये के दाम आसमान छू सकते हैं. इसके पीछे कारण जेट फ्यूल के दाम हैं, जो पिछले चार सालों में अपने सबसे ऊंचे स्तर पर पहुंच गए हैं. इस मई के पहले 15 दिन में पिछले साल के इसी वक्त के मुकाबले हवाई यात्राओं का किराया १७ फीसदी बढ़ा हैं.

किराये में बढ़ोतरी का असर हवाई सफर की मांग पर भी पड़ा हैं. ज्यादा किराये की वजह से इस महीने कम लोगों ने हवाई सफर किया हैं. ईटी ने यात्रा डॉट कॉम के चीफ ऑपरेटिंग ऑफ‍सर शरत ढाल के हवाले से बताया कि हवाई यात्रा के किरायों में मई की शुरुआत से ही वृद्धि हुई हैं.

यह अप्रैल २०१८ की तुलना में १५ फीसदी और मई २०१७ की तुलना में १० फीसदी बढ़े हैं. हालांकि कुल बढ़ोतरी १७ फीसदी हुई हैं. उन्होंने कहा कि किराये बढ़ने की कई वजहें हैं. इसमें जेट फ्यूल के दामों में ६.३ फीसदी की बढ़ोतरी और गर्मी की छुट्टियों में बढ़ती डिमांड हैं. इंडियन ऑयल की वेबसाइट के मुताबिक हवाई ईंधन के दाम मई २०१८ के दौरान दिल्ली में २६.४ फीसदी बढ़े हैं.

हवाई ईंधन के दाम का असर हवाई सेवा के दामों पर ५० फीसदी तक पड़ता हैं. दामों के बढ़ने से डिमांड पर असर होता हैं| खबर आजतक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here