सिविल सर्विस डे आज हैं भारतीय लोक सेवा दिवस यानी सिविल सर्विस डे

२१ अप्रैल यानी आज का दिन सिविल सर्विस डे के रूप में मनाया जाता हैं. आज भारतीय लोक सेवा दिवस यानी सिविल सर्विस डे हैं. भारत में संघ लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित की जाने वाली सिविल सर्विस परीक्षा को सबसे अधिक मुश्क‍िल माना जाता हैं. उसमें भी टॉप रैंकर्स बनते हैं आईएएस.

ये टॉप रैंकर्स कैसे बनते हैं, इसका फिक्स फॉर्मूला तो अब तक किसी को नहीं मिला लेकिन माना जाता हैं कि कुछ राज्य ऐसे हैं जिन्होंने इस फॉर्मूले को क्रैक कर लिया हैं. सोशल मीडिया के अनुसार सबसे ज्यादा आईएएस बिहार से आते हैं. हालांकि यह सच नहीं हैं. बिहार इन टॉपर्स को पैदा करने में दूसरे नंबर पर हैं.

एक आंकड़े के अनुसार देश भर के कुल ४९२५ आईएएस अधिकारियों में ४६२ अकेले बिहार से हैं. यानी, ९.३८ प्रतिशत टॉप ब्यूरोक्रेट्स बिहारी हैं. २००७ से २०१६ के बीच देश भर से चुने गए कुल १६६४ आईएएस अधिकारियों में से बिहार से १२५ शामिल हुए. हालांकि यह बढ़ोतरी अभी बिहार से कुल आईएएस अधिकारियों की संख्या में कम हैं.

बिहार से सबसे ज्यादा आईएएस अधिकारी १९८७ से १९९६ के बीच चुने गए. इस दौरान यूपीएससी के जरिए कुल ९८२ आईएएस अधिकारियों का चयन हुआ, जिसमें अकेले बिहार से १५९ अधिकारी शामिल थे. उस समय बिहार से आईएएस बनने की दर १६.१९ फीसदी रही. आपको बता दें कि सबसे ज्यादा आईएएस यूपी ने दिए हैं. २०१६ तक इसकी संख्या ७३१ थी.

बिहार इस मामले में काफी पीछे

२०११ से २०१५ के बीच यूपी ने ११८ आईएएस दिए. वहीं बिहार इस मामले में काफी पीछे रह गया. बिहार से सिर्फ ६८ आईएएस निकले. इस दौरान ९७ आईएएस के साथ दूसरे नंबर पर राजस्थान और ९० आईएएस के साथ तमिलनाडु रहा. इसके बाद बिहार का नंबर आता हैं. इनके अलावा आंध्र प्रदेश से भी काफी आईएएस आते हैं| खबर आजतक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here