रॉबर्ड वाड्रा कांग्रेस खुलकर रॉबर्ड वाड्रा के साथ खड़ी हो गई

एक बार फिर उद्योगपति रॉबर्ट वाड्रा सुर्खियों में हैं. मामला यह हैं की बीजेपी ने रॉबर्ड वाड्रा पर २०१०-११ में टैक्स चोरी करने का आरोप लगाया हैं. पार्टी ने राहुल गांधी से इस मामले में जवाब मांगा हैं जबकि कांग्रेस खुलकर रॉबर्ड वाड्रा के साथ खड़ी हो गई हैं. बीजेपी ने बुधवार को उन पर टैक्स चौरी का आरोप लगाते हुआ दावा किया कि उन्होंने २०१०-११ के अपने रिटर्न में असली कमाई नहीं दिखाई.

बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा की ‘वाड्रा गोरखधंधे में लगे थे. २०१०-११ में रॉबर्ड वाड्रा ने असेसमेंट के आधार पे दिखाया था कि उनकी आमदनी मात्र ३७ लाख रुपये थी और अब इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने पाया हैं की ४३ करोड़ रुपये उनकी आमदनी थी. उन्‍होंने कहा कि हम राहुल गांधी जी से पूछना चाहते हैं कि रॉबर्ट वाड्रा जिस प्रकार से इनकम टैक्स की चोरी कर रहे थे,

इस पर उनका क्या कहना हैं. कांग्रेस ने जवाब देने में देरी नहीं की और पार्टी ने रॉबर्ड वाड्रा का बचाव करते हुए कहा कि आईटी विभाग बीजेपी के दबाव में रॉबर्ट वाड्रा पर पूर्वव्यापी कर लगा रहा हैं. ये नीरव मोदी, मेहुल चौकसी और विजय माल्या जैसे विवादों से ध्यान भटकाने की कोशिश हैं.

रॉबर्ड वाड्रा ने कुछ भी गलत नहीं किया हैं, उसे जानबूझकर फंसाने की कोशिश की जा रही हैं. साफ हैं इनकम टैक्स विभाग की इस पहल से बीजेपी को राहुल गांधी पर निशाना साधने का एक नया मौका मिल गया हैं, जबकि कांग्रेस पूरी तरह रॉबर्ट वाड्रा के बचाव में खड़ी दिख रही हैं| खबर एनडीटीवी इंडिया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here