रूस जरूरत पड़ी तो रूस पर प्रतिबंध लगाया जाएगा

रूस पर जुबानी हमला बोलते हुए अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक बार फिर कहा कि रूस के प्रति अब तक उनसे ज्यादा सख्त हमला किसी ने नहीं बोला हैं और अगर जरूरत पड़ी तो रूस पर प्रतिबंध भी लगाया जाएगा. दूसरी तरफ उन्होंने डेमोक्रेट्स द्वारा २०१६ के राष्ट्रपति चुनाव प्रचार में रूस के दखल के आरोपों को भी सिरे से खारिज कर दिया हैं और इसे छलावा करार दिया हैं.

फ्लोरिडा में जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे के साथ संवाददाता सम्मेलन के दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि मुख्य धारा की मीडिया रूस के खिलाफ उठाए गए कदमों को देख नहीं पा रही हैं, लेकिन जब रूस पर प्रतिबंध लगाने की जरूरत पड़ेगी तो लगाया जाएगा. हालांकि ट्रंप ने रूस के साथ संबंधों को लेकर कहा कि यह अच्छी बात हैं.

इसमें कुछ भी बुरा नहीं हैं. डोनाल्ड ट्रंप ने मीडिया के रवैये पर भी गुस्सा जाहिर करते हुए कहा कि मैं चाहे जो करूं, कितना भी कठोर कदम उठाऊं, वह मीडिया के लिए कठोर नहीं होता हैं. क्योंकि उनकी सोच यही है. चुनाव प्रचार में रूस के दखल के आरोपों का जवाब देते हुए ट्रंप ने कहा कि डेमोक्रेट्स अपने नुकसान की भरपाई के लिए जानबूझ कर बेवजह ऐसे आरोप लगा रहे हैं.

जांच जारी हैं और हम सभी दस्तावेज मुहैया करा रहे हैं. अभी तक करीब १४ लाख पेज के दस्तावेज सौंपे हैं. उन्होंने कहा कि जहां तक जांच की बात हैं मेरे जैसा पारदर्शी कोई नहीं रहा. मैंने अपने वकीलों से कहा हैं कि इस मामले में पूरी पारदर्शिता बरती जाए. ताकि सच्चाई सामने आ सके और जांच जल्द से जल्द खत्म हो सके| खबर एनडीटीवी इंडिया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here