यूजीसी छात्र फर्जी विश्वविद्यालयों के धोखे में ना आए इसलिए यूजीसी ने जारी की सूची

कुछ दिन पहले ही देश भर में १२वीं के नतीजे आने के बीचे विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने छात्रों के लिए एक चेतावनी जारी की हैं. छात्र किसी भी फर्जी विश्वविद्यालयों के धोखे में ना आए इसलिए यूजीसी ने २४ फर्जी विश्वविद्यालयों की सूची जारी की हैं. खास बात यह हैं कि  इनमें आठ विश्वविद्यालय राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में हैं.

यूजीसी का कहना हैं कि १२वीं पास कर बच्‍चे अंडर ग्रेजुएट कोर्सों में एडमिशन लेना शुरू करेंगे लेकिन अगर विश्‍वविद्यालय फर्जी निकलता हैं तो ऐसे में उन्‍हें परेशानी होगी. उनका साल बर्बाद होने का खतरा हैं. इसे देखते हुए छात्रों को सावधान करने के लिए यूजीसी ने एकेडमिक ईयर की शुरुआत में ही फर्जी विश्‍वविद्यालयों के नाम सार्वजनिक किए हैं.

आयोग द्वारा जारी एक नोटिस में कहा गया हैं की, विद्यार्थियों और आम लोगों को सूचित किया जाता हैं कि फिलहाल देश के विभिन्न हिस्सों में २४ स्वयंभू और गैर मान्यता प्राप्त संस्थान यूजीसी अधिनियनम का उल्लंघन करके चल रहे हैं. इन विश्वविद्यालयों को फर्जी घोषित किया गया हैं और उन्हें कोई भी डिग्री प्रदान करने का हक नहीं हैं.

कॉमर्शियल यूनिवर्सिटी, यूनाईटेड नेशंस यूनिवर्सिटी, वोकेशनल यूनिवर्सिटी, एडीआर-सेंट्रिक जूरिडिकल यूनिवर्सिटी, इंडियन इंस्टीट्यूशन ऑफ साइंस एंड इंजीनियरिंग, विश्वकर्मा ओपेन यूनिवर्सिटी फॉर सेल्फ एम्प्लॉयमेंट, आध्यात्मिक विश्र्वविद्यालय और वाष्र्णेय संस्कृत विश्वविद्यालय.

देश के अन्य स्थानों पर जहाँ फर्जी विश्वविद्यालय हैं उनमें एक-एक उत्तर प्रदेश के अलीगढ़, कानपुर, प्रतापगढ़, मथुरा, कानपुर और दो इलाहाबाद में हैं. इसी तरह के कुछ और फर्जी विश्‍वविद्यालय महाराष्ट्र, ओडिशा, पुडुचेरी, कर्नाटक, केरल और बिहार में भी हैं. यूजीसी ने इससे पहले बीते साल भी फर्जी विश्‍वविद्यालयों की सूची जारी की थी जिसमें

मैथिली यूनिवर्सिटी/विश्‍वविद्यालय, दरभंगा, वाराणसी संस्‍कृत विश्‍वविद्यालय, वाराणसी, कमर्शियल यूनिवर्सिटी लिमिटेड दरियागंज (नई दिल्‍ली), यूनाईटेड नेशंस यूनिवर्सिटी और वोकेशनल यूनिवर्सिटी, दिल्‍ली शामिल थी| खबर दैनिक जागरण

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here