भारत की ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिप्कार्ट भारत की ई-कॉमर्स सेगमेंट में काम करने वाली भारत की सबसे बड़ी ऑनलाइन शॉपिंग कंपनी फ्लिपकार्ट बिक सकती हैं. कड़ी प्रतिस्पर्धा का सामना कर रही भारत की ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिप्कार्ट को खरीदने के लिए दो बड़ी कंपनियों ने ऑफर करने का मन भी बना लिया हैं. बिजनेस अखबार मिंट में छपी खबर के मुताबिक, फ्लिपकार्ट को खरीदने के लिए अमेरिकी कंपनी अमेजॉन ने दिलचस्पी दिखाई हैं. अमेजॉन जल्द ही इसके लिए ऑफर कर सकती हैं.

भारत की ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिप्कार्ट को खरीदने का मन बना रही अमेजॉन

उधर, दुनिया की सबसे बड़ी रिटेल कंपनी वॉलमार्ट भी इस रेस में नजर आ रहा हैं. भारत की ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिप्कार्ट को खरीदने में जहां अमेजॉन ऑफर करने का मन बना रही हैं. वहीं, वॉलमार्ट कंपनी में बड़ी हिस्सेदारी खरीदना चाहती हैं. सूत्रों से मिली खबरों की माने तो वॉलमार्ट ४० फीसदी हिस्सेदारी खरीदने के लिए फ्लिपकार्ट से बातचीत कर रही हैं. भारत की ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिप्कार्ट में हिस्सेदारी या उसे खरीदने की खबरों को अमेजॉन ने खारीज किया हैं.

उसके मुताबिक ऐसी किसी डील की संभावना नहीं हैं. उधर, फ्लिपकार्ट ने भी इस खबर पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी हैं. वहीं, मीडिया में ऐसी खबरें हैं कि वॉलमार्ट की फ्लिपकार्ट के साथ ४० फीसदी हिस्सेदारी खरीदने के लिए बातचीत हो रही हैं. भारत की ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिप्कार्ट को खरीदने के लिए अमेजॉन का ऑफर और वॉलमार्ट की हिस्सेदारी में दिलचस्पी इस बात को साफ दिखाती हैं कि दोनों दिग्गजों के मुकाबला जबरदस्त हैं.

सूत्रों के अनुसार, वॉलमार्ट प्राइमरी और सेकेंडरी शेयर खरीद के फ्लिपकार्ट में बड़ी हिस्सेदारी चाहती हैं. भारत की ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिप्कार्ट की कुल वैल्यू इस वक्त २१ अरब डॉलर के आसपास आंकी गई हैं. वॉलमार्ट के साथ डील होने से फ्लिपकार्ट और बड़ी कंपनी होगी. ऐसे में उसे अपने प्रतिद्वंदी अमेजॉन से मुकाबले करने में मदद मिलेगी. इंडियन ई-कॉमर्स बाजार में अमेजॉन और फ्लिपकार्ट में हमेशा से टक्कर रहा हैं. अमेजॉन की भारतीय बाजार पर नजर काफी पहले से हैं.

वह अपने एक्सपेंशन प्लान को लेकर भी गंभीर हैं. उसने भारतीय बाजार में करीब ५ अरब डॉलर के निवेश की योजना भी बना रखी हैं. ऐसे में अगर ‘भारत की ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिप्कार्ट’ के साथ डील होती हैं तो उसका करीब ७० फीसदी भारतीय बाजार पर कब्जा होगा. अभी फ्लिपकार्ट की भारतीय ऑनलाइन मार्केट में ४० फीसदी हिस्सेदारी हैं| खबर जी न्यूज़

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here