कश्मीर हमारी लड़ाई कश्मीर के लिए हैं, कश्मीरियों के खिलाफ नहीं हैं

पुलवामा आतंकी हमले के बाद प्रधानमंत्री ने देश के कुछ हिस्सों में कश्मीरियों पर हुए हमले को नामंजूर करते हुए शनिवार को कहा कि हमारी लड़ाई कश्मीर के लिए हैं, कश्मीरियों के खिलाफ नहीं हैं. प्रधानमंत्री ने एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा की हमारी लड़ाई कश्मीर के लिए हैं, कश्मीरियों के खिलाफ नहीं हैं.

कश्मीरी बच्चों की सुरक्षा की जिम्मेदारी हमारी हैं. कश्मीर का बच्चा-बच्चा आतंकवादियों के खिलाफ हैं. हमें उसे अपने साथ रखना हैं. उन्होंने कहा कि अमरनाथ की यात्रा करने लाखों श्रद्धालु जाते हैं, उनकी देखभाल कश्मीर का बच्चा करता हैं. अमरनाथ यात्रियों को जब गोली लगी तो कश्मीर के मुसलमान खून देने के लिए कतार लगाकर खड़े हो गए थे.

उन्होंने कहा कि हमारी लड़ाई आतंकवाद के खिलाफ हैं, कश्मीर के खिलाफ नहीं हैं. पिछले दिनों कश्मीरी बच्चों के साथ हिंदुस्तान के किसी कोने में क्या हुआ, क्या नहीं हुआ, घटना छोटी थी या बड़ी थी. मुद्दा यह नहीं हैं. इस देश में यह होना नहीं चाहिए. कश्मीर में जैसे हिदुस्तान के जवान शहीद होते हैं, वैसे ही कश्मीर के लाल भी इन आतंकवादियों की गोलियों से शहीद होते हैं.

आतंकवाद को जड़ से उखाड़ना हैं तो गलती नहीं करनी हैं

ऐसी हरकतें उन लोगों को ताकत देती हैं जो भारत तेरे टुकड़े होंगे गैंग को आशीर्वाद देने जाते हैं. उन्होंने कहा की अगर हमें आतंकवाद को जड़ से उखाड़ना हैं तो गलती नहीं करनी हैं. मोदी ने कहा कि आम कश्मीरी भी आतंकवाद से मुक्ति चाहता हैं, लेकिन पहली सरकारों ने ऐसे बीज बोये की उनके सपने पूरे नहीं हुए.

गौरतलब हैं कि प्रधानमंत्री का यह बयान ऐसे समय में काफी महत्वपूर्ण हैं जब उच्चतम न्यायालय ने पुलवामा आतंकी हमले के बाद कश्मीरियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने की जनहित याचिका पर केन्द्र और ११ राज्यों को नोटिस जारी किया था. शीर्ष अदालत ने कश्मीरियों और अन्य अल्पसंख्यकों पर हमले की स्थिति में तुरंत कार्रवाई करने का निर्देश दिया था.

केंद्र ने शुक्रवार रात सभी राज्यों को जम्मू कशमीर  से संबंधित लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने का निर्देश दिया. पीडीपी, नेशनल कांफ्रेस सहित कुछ राजनीति दलों ने भी इस विषय को उठाया था. प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारी लड़ाई आतंकवाद और मानवता के दुश्मनों के खिलाफ हैं. अगर कश्मीरियों के सपने कोई पूरा करेगा तो यही नया हिंदुस्तान करेगा.

मोदी ने कहा कि कश्मीर के पंच सरपंचों ने मुझसे किया वादा निभाया हैं. मैंने उनसे कहा था कि जब आतंकवादी स्कूल जलाता हैं तब वह इमारत नहीं जलाता हैं, आपके बच्चों का भविष्य जलाता हैं. उन्होंने कहा की आज मैं गर्व के साथ कहता हूं कि कश्मीर घाटी के मेरे पंच-सरपंचों ने एक भी स्कूल जलने नहीं दिया| खबर एनडीटीवी इंडिया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here