कर्नाटक कर्नाटक चुनावों को ले कांग्रेस और जेडी के बीच समझौता

शनिवार को चुनावी रैली के दौरान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कांग्रेस और जेडीएस पर तीखे हमले बोले. पहले तुमकुर में और बाद में गडग की चुनावी रैलियों में उन्‍होंने दोनों पार्टियों पर जमकर निशाना साधा. प्रधानमंत्री मोदी ने दावा किया कि कर्नाटक विधानसभा चुनावों को लेकर कांग्रेस और जेडी के बीच ‘गुप्त’ समझौता हुआ हैं और एचडी देवगौड़ा की पार्टी कांग्रेस का ‘बचाव’ कर रही हैं.

मोदी ने यहां एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए आरोप लगाया कि कांग्रेस वर्षों से सिर्फ वोट बटोरने के लिये गरीबी हटाने की बात करती रही हैं जबकि असल में उसने किसानों और गरीबों की अनदेखी की. कांग्रेस को निशाने पर लेते हुए उन्‍होंने कहा की १५ मई के बाद कांग्रेस पार्टी, पीपीपी कांग्रेस बन जाएगी.

पीएम मोदी ने पीपीपी का अर्थ बताते हुए कांग्रेस को पंजाब, पुडुचेरी और परिवार कांग्रेस से जोड़ा. इन चुनावी रैलि‍यों में प्रधानमंत्री ने जेडीएस पर भी तीखा हमला बोला. उन्होंने कहा की, चुनावी सर्वेक्षण, राजनीतिक पंडित हर किसी का यही कहना हैं कि जेडी कांग्रेस को नहीं हरा सकती. वे सरकार नहीं बना सकते.

अब कर्नाटक में कोई सरकार बदल सकता हैं तो वह भाजपा हैं. उन्होंने कहा अगर कोई कांग्रेस का बचाव कर रही हैं तो वह जेडी हैं. कांग्रेस और जेडी के बीच गोपनीय समझौता हुआ हैं. पर्दे के पीछे से साझेदारी चल रही हैं. मोदी ने कुछ ही दिन पहले पूर्व प्रधानमंत्री एवं जेडी के वरिष्ठ नेता एचडी देवगौड़ा की प्रशंसा की थी,

मोदी की मांग

लेकिन उन पर निशाना साधा. मोदी ने मांग की हैं कि कांग्रेस यह साफ करे कि उसका जेडी के साथ कोई गुप्त समझौता हुआ हैं या नहीं. उन्होंने कहा कि देवगौड़ा की पार्टी के समर्थन से ही कांग्रेस बेंगलुरु में अपना महापौर बना पायी. मोदी ने कहा आखिर आप यह छिपा क्यों रहे हैं?

कांग्रेस को इतनी हिम्मत होनी चाहिए कि वह जनता से सच बोले. हालांकि मोदी ने जोर देकर कहा कि वह देवगौड़ा का सम्मान करते हैं. वर्ष २०१४ के लोकसभा चुनाव से पहले देवगौड़ा ने घोषणा की थी कि अगर मोदी प्रधानमंत्री बनते हैं तो देवेगौड़ा आत्महत्या कर लेंगे| खबर जी न्यूज़

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here