आईटीआर ३१ जुलाई तक नहीं भरा आईटीआर तो लगेगी लेट फीस

इनकम टैक्स रिटर्न भरने के लिए आज के दिन को मिलाकर आपके पास अब मात्र २६ दिन रह गए हैं. अगर आप टैक्स के दायरे में आते हैं और आप ने ३१ जुलाई तक आईटीआर नहीं भरा तो आप पर भारी-भरकम लेट फीस लग सकती हैं. आय कर विभाग लगातार समय पर और सही आईटी-आर भरने को लेकर लोगों को सूचित कर रहा हैं. आयकर विभाग की वेबसाइट पर लगातार ये कहा जा रहा हैं कि अगर आप ने ३१ जुलाई तक अपना रिटर्न नहीं भरा, तो आप पर ५००० रुपये तक की लेट पेमेंट फीस लग सकती हैं.

ऐसे जानें आपको आईटी-आर भरना हैं या नहीं? आपको रिटर्न  भरना अनिवार्य हैं या नहीं, इसका पता आप आसानी से लगा सकते हैं. इसके लिए आपको सिर्फ यह देखना होगा कि अगर आपकी टैक्सेबल इनकम २.५० लाख रुपये से ज्यादा हैं, तो आपको आईटी-आर फाइल करना अनिवार्य हैं. वित्त वर्ष २०१७-१८ के लिए टैक्स स्लैब तय हैं. इसमें अगर आपकी टैक्सेबल इनकम २.५० लाख से ५ लाख के बीच हैं, तो आपको ५ फीसदी टैक्स देना होगा.

अगर आपकी टैक्सेबल इनकम ५ लाख से ज्यादा और १० लाख रुपये तक हैं, तो आपको २० फीसदी टैक्स के तौर पर चुकाना होगा. १० लाख से ज्यादा हैं, तो इसके लिए आपको ३० फीसदी टैक्स चुकाना होगा. यहां यह जरूर ध्यान रखें कि अगर आपकी इनकम ५० लाख से ज्यादा और १ करोड़ रुपये तक हैं, तो आपको १० फीसदी सरचार्ज के तौर पर देना होगा. वहीं, अगर इनकम एक करोड़ रुपये से ज्यादा हैं, तो आपको १५ फीसदी सरचार्ज देना होगा.

३१ जुलाई तक आईटीआर नहीं भरा तो क्या होगा

कैसे भरें आईटीआर: आप आईटी-आर ऑनलाइन और ऑफलाइन भर सकते हैं. अगर आप ऑनलाइन आईटीआर भरना चाहते हैं, तो आप इनकम टैक्स की ई-फाइलिंग वेबसाइट पर पहुंच सकते हैं. अगर वेतनभोगी हैं, तो आपको आईटीआर १ फॉर्म भरना हैं. क्या दस्तावेज जरूरी हैं: वैसे तो आपको वित्तीय लेन-देन से जुड़े हर दस्तावेज को आईटीआर भरने के दौरान अपने पास रखना होगा.

लेकिन सबसे जरूरी हैं कि आपके पास फॉर्म १६, फॉर्म २६ एएस, बैंक डिटेल, होम लोन इंटरेस्ट सर्टीफिकेट, पैन कार्ड, आधार कार्ड समेत अन्य दस्तावेज मौजूद हों. ३१ जुलाई तक नहीं भरा आईटीआर तो क्या होगा? अगर आप ३१ जुलाई तक आईटीआर नहीं भरते हैं, तो आप पर इनकम टैक्स एक्ट के सेक्शन २३४एफ  के तहत लेट फीस लगेगी. अगर आप सम्बंधित वित्त वर्ष के ३१ जुलाई के बाद और ३१ दिसंबर से पहले आईटीआर भरते हैं, तो आप पर ५ हजार रुपये तक लेट फीस लग सकती हैं.

३१ दिसंबर के बाद भरने पर आप से १० हजार रुपये तक की लेट फीस आय कर विभाग वसूल सकता हैं. हालांकि अच्छी बात यह हैं कि अगर आपकी कुल आय ५ लाख रुपये से ज्यादा नहीं हैं, तो आप पर लगने वाली लेट फीस १००० रुपये से ज्यादा नहीं होगी| खबर आजतक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here