मोबाइल उपभोक्ताओं के लिए खुशखबरी जाने ट्राई ने दिया कौन सा तोहफ़ा

मोबाइलमोबाइल उपभोक्ताओं के लिए अच्छी खबर टेलीकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने मोबाइल इंटरक्नेक्शन यूसेज चार्ज को १४ पैसे से घटाकर ६ पैसे प्रति मिनट कर दिया हैं. मोबाइल कंपनियां अगर इस कटौती का फायदा ग्राहकों को देती हैं तो काल दरें घटने की राह खुल सकती हैं. नियामक के इस कदम का फायदा नई कंपनी रिलायंस जियो को मिलने की उम्मीद हैं.

वहीं मोबाइल कंपनियों के संगठन ‘सी.ओ.ए.आई’  ने इस फैसले को गलत करार देते हुए कहा कि इसके खिलाफ अदालत का दरवाजा खट खटाया जा सकता हैं. गौरलतब हैं कि इंटरक्नेक्शन यूसेज चार्ज वह चार्ज होता हैं जो कोई दूरसंचार कंपनी अपने नेटवर्क से दूसरी कंपनी के नेटवर्क पर मोबाइल कॉल के लिए दूसरी कंपनी को देती हैं. ट्राई ने कहा हैं कि ६ पैसे प्रति मिनट का नया कॉल टर्मिनेशन चार्ज १ अक्टूबर २०१७ से प्रभावी होगा और १ जनवरी २०२० से इसे पूरी तरह से खत्म कर दिया जाएगा.

ट्राई ने अपने बयान में कहा कि उसने यह फैसला भागीदारों से मिली राय के आधार पर किया हैं. ‘सी.ओ.ए.आई’ के महानिदेशक राजन मैथ्यूज ने अपनी प्रतिक्रिया में कहा, यह अनर्थकारी कदम हैं ज्यादातर सदस्य कंपनियों ने संकेत दिया हैं कि वे संभवत: इस मामले में राहत के लिए अदालत की राह लेंगी. ट्राई के पूर्व चेयरमैन राहुल खुल्लर ने भी मैथ्यूज के विचारों से सहमति जताई हैं. उन्होंने कहा, अगर आप टर्मिनेशन शुल्क घटाएंगे तो मुख्य रूप से जियो को ही लाभ होगा

क्योंकि वही अन्य नेटवर्क पर भारी ट्रैफिक बोझा डाल रही हैं. गौरतलब हैं कि इंटरक्नेक्शन यूसेज चार्ज को लेकर हाल ही में खासा विवाद रहा हैं और इसमें कटौती का ट्राई के इस फैसला से भारती एयरटेल जैसी प्रमुख दूरसंचार कंपनियों के रुख के विपरीत हैं, जो कि इसमें बढोतरी की मांग कर रहीं थी| खबर आजतक

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *