इनकम टैक्स रिटर्न फ़ाइल में हुई ये ग़लतियाँ कर सकती हैं परेशान

इनकमइनकम टैक्स भरना जितना जरूरी ही हैं इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करना इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के अनुसार रिटर्न फाइल करने की आखिरी तारीख ३१ जुलाई हैं यदि आप टैक्स रिटर्न फाइलिंग तय तारीख पर नहीं कर पाते हैं तो आपको पेनल्टी भरनी पड़ सकती हैं और यह बता दें कि समय से इनकम टैक्स भरने के बावजूद भी यह पेनल्टी आपको भरनी पड़ सकती हैं

कुछ बाते जिसे ध्यान में रखना जरूरू हैं ताकि आयकर विभाग का नोटिस न आये क्योंकि आईटीआर फाइलिंग एकदम सही तरीके और सही समय से करने से सही समय पर रिफंड, यदि बनता हो तो इसमें कोई दिक्कत नहीं आती और आईटीआर प्रॉसेस भी वक्त पर हो जाता हैं बैंक डीटेल्स जैसे कि नाम, बैंक का आई.एफ.एस.सी कोड, रिफंड लेना वाला अकाउंट नंबर सही तरीके से चेक करके भरें ताकि रिफंड असफल न हो जाए

नियोक्ता कंपनी यदि टैन (टैक्स डिडक्शन एंड कलेक्शन अकाउंट नंबर) सही नहीं दे तब भी रिफंड और चुकाए गए टैक्स के संदर्भ में अन्य तकनीकी दिक्कत आ सकती हैं. इसके साथ ही अपना ईमेल आईडी और पोस्टल अड्रेस में भी किसी प्रकार की कोई गलती न करें स्पेलिंग चेक कर लें. शायद इनकम टैक्स विभाग आपको नोटिस भेजे या किसी और प्रकार का संवाद स्थापित करना चाहे लेकिन ये जानकारियां गलत होने पर आप तक आयकर विभाग का मेसेज पहुंचेगा ही नहीं.

यदि कोई रिफंड बनता भी हैं तो चेक सही पते पर नहीं पहुंचेगा. इन सारी छोटी छोटी लगने वाली लेकिन महत्वपूर्ण जानकारियों और सूचनाओं को क्रॉस चेक कर लें इनकम टैक्स के सेक्शन ८० के तहत आप काफी हद तक अपना आयकर बचा सकते हैं. इसके तहत मिलने वाली छूट का लाभ उठाइए और जहां तक हो सके अपने नियोक्ता को इस बाबत समय से दस्तावेज मुहैया करवाकर सूचित करिए लेकिन यदि न भी बता पाएं तो आईटीआर में इनका जिक्र करें| खबर एनडी टीवी इंडिया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *