भारत दुनिया का दूसरा सबसे सस्ता देश

भारत

हालही में गो बैंकिंग रेट्स द्वारा ११२ देशों के बीच किए गए एक सर्वेक्षण में दुनिया में रहने या सेवानिवृत्ति के लिहाज से भारत दुनिया का दूसरा सबसे सस्ता देश हैं और इस मामले में पहले स्थान पर दक्षिण अफ्रीका हैं. इस सर्वेक्षण ने देशों की रैंकिंग चार प्रमुख मानकों पर तय की हैं. इसके लिए उसने नमबियो द्वारा ऑनलाइन जुटाए गए आंकड़ों का आकलन किया. सर्वेक्षण में स्थानीय क्रयशक्ति सूचकांक, किराया सूचकांक, आम उपभोग की वस्तुओं के सूचकांक और उपभोक्ता मूल्य सूचकांक मानकों के आधार पर रैंकिंग की गई हैं.

दुनिया के ५० सबसे सस्ते देशों में किराया सूचकांक में भारत दूसरे क्रम पर हैं. उससे ऊपर सिर्फ पड़ोसी देश नेपाल का नाम आता हैं. इस हिसाब से अन्य देशों के मुकाबले रहने के लिए भारत सबसे सस्ता देश हैं. उपभोक्ता सामान और ग्रॉसरी की कीमतों के हिसाब से भी भारत सबसे सस्ता देश हैं जहां कोलकाता शहर में २८५ डॉलर मासिक खर्च में एक अकेला व्यक्ति अपनी गुजर-बसर कर सकता हैं. सर्वेक्षण के हिसाब से १२५ करोड़ की आबादी वाला भारत दुनिया के ५० सबसे सस्ते और ज्यादा आबादी वाले देशों में से एक हैं.

यहां प्रमुख उद्योग कपड़ा, रसायन और खाद्य प्रसंस्करण हैं. इसके अलावा भारत के कई शहरों स्थानीय क्रयशक्ति भी अधिक हैं. सर्वेक्षण के अनुसार भारतीयों की स्थानीय क्रयशक्ति २०.९% सस्ती, किराया ९५.२% सस्ता, ग्रॉसरी की कीमत ७४.४% सस्ती और स्थानीय सामान और सेवाएं ७४.९% सस्ती हैं. भारत के पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान का इस सूची में १४वां स्थान हैं. इसके अलावा कोलंबिया का १३वां, नेपाल का २८वां और बांग्लादेश का ४०वां स्थान हैं. इन सभी देशों की इन चारों मानकों पर तुलना अमेरिका के न्यूयॉर्क शहर से की गई हैं| खबर एनडीटीवी इंडिया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *