‘फ्रेंडशिप डे’ जाने सालों पहले कैसे और कहाँ से शुरू हुई थी ये

फ्रेंडशिप‘फ्रेंडशिप डे’ दुनिया में सबसे अहम माना जाने वाला ये दोस्ती का रिश्ता और ये मित्रता दिवस का दिन, एक सच्चे दोस्त के बिना अधूरा हैं. हर साल अगस्त महीने के पहले रविवार को दुनिया भर में फ्रेंडशिप डे मनाया जाता हैं. इस दिन दोस्त अपनी दोस्ती का इज़हार करते हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं मित्रता दिवस की शुरुआत कब से हुई हैं ? और इसे क्यों मनाते हैं ? चलिए हम आपको बताते हैं.

ये हैं फ्रेंडशिप डे का इतिहास पश्चिमी देशों से शुरु हुआ था मित्रता दिवस मनाने का चलन, लेकिन भारत में भी पिछले कुछ सालों से युवाओं के बीच काफी पॉपुलर हो रहा हैं. ग्रीटिंग कार्ड, सोशल मीडिया और एसएमएस के जरिए लोग एक दूसरे को इस दिन पर बधाई देते हैं और आजीवन सच्ची मित्रता निभाने का वचन लेते हैं. लेकिन इसे मनाने के पीछे की कहानी दुनिया के सबसे बड़े युद्धों में से एक से जुड़ी हैं.

कहा जाता हैं की प्रथम विश्व युद्ध के बाद लोगों और देशों के बीच आपसी द्वेष, शत्रुता और नफरत की भावना ने जन्म ले लिया था और इसे समाप्त करने के लिए १९३५ में अमेरिकी सरकार ने फ्रेंडशिप डे की शुरुआत की थी. उस समय ये तय किया गया कि हर वर्ष अगस्त के पहले रविवार को इसे मनाया जाएगा संभवत: इसके पीछे ये कारण रहा होगा कि इस दिन छुट्टी होती हैं और इसलिए लोग ये दिन पूरी तरह से अपने दोस्तों के साथ एंजॉय कर सकें.

पर कुछ देशों में अलग हैं इसकी तारीख भारत के साथ कई दक्षिण एशियाई देशों में अगस्त के पहले रविवार को फ्रेंडशिप डे मनाया जाता हैं पर कुछ जगहों पर इसे अगस्त के पहले रविवार को नहीं बल्कि किसी और दूसरी तारीख को मनाया जाता हैं. ओहायो के ओर्बलिन में ८ अप्रैल को फ्रेंडशिप डे मनाया जाता हैं. और आपको बता दें कि १९९७ में अमेरिकी सरकार ने प्रसिद्ध कार्टून करेक्टर ‘विनी द पू’ को फ्रेंडशिप डे का ब्रांड एंबेसडर बनाया था. और २७ अप्रैल २०११ को संयुक्त राष्ट्र संघ की आम सभा ने ३० जुलाई को आधिकारिक तौर पर ‘इंटरनेशनल फ्रेंडशिप डे’  मनाने की घोषणा की थी| खबर जी न्यूज़

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *