हिन्दुस्तानी सिपाही सबसे ज्यादा शांति प्रिय : मोदी

मोदी

आज फिलीपींस की राजधानी मनीला में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारतीय प्रवासियों से मुलाकात की और जहां उन्होंने सभी भारतीयों को संबोधित करते हुए देश के विकास और भारतीय संस्कृतियों से जु़ड़ी कई बातों पर अपने विचार रखें. उन्होंने कहा कि विश्वभर में लाखों भारतीय समुदाय के लोग मौजूद हैं. वर्षों से देशाटन करने की वृत्ति प्रवृति रही हैं, लेकिन भारत की यह विशेषता रही कि हम जहां गए जिससे मिले उसे अपना बना लिया.

पीएम मोदी ने भारतीय प्रवासियों से कहा कि हम भारतीयों के भीतर दृढ़ आत्मविश्वास होता हैं कि आप कहीं पर भी हों, या कितने सालों या पीढ़ियों से बाहर होंगे, भले ही भारतीय भाषा नहीं आती हो, लेकिन यदि भारत में कुछ बुरा होता हैं तो आपको भी नींद नहीं आती होगी. और यदि कुछ अच्छा हुआ होगा तो आप भी फूले नहीं समाते. इसलिए वर्तमान सरकार का प्रयासरत हैं कि देश के विकास को इस ऊंचाईयां तक ले जाए कि विश्व की बराबरी कर लें और अगर हम भारतीय एक बार भी बराबरी कर लें तो मैं नहीं मानता कि दुनिया में भारत को पीछे कोई कर पाएगा. मोदी ने संबोधन में यह भी कहा कि भारत के पास जो सांस्कृतिक विरासत हैं, किसी भी युग में इतिहास में एक भी घटना नजर नहीं आती होगी कि हमने किसी का बुरा किया होगा. जब मैं दुनिया के विभिन्न देशों के प्रतिनिधियों से मिलता हूं तो यह बताता हूं कि प्रथम या द्वितीय विश्व युद्ध में न हमें जमीन चाहिए थी न ही हमें किसी देश पर कब्जा करना था, सिर्फ शांति के लिए डेढ़ लाख हिन्दुस्तानियों ने शहादत दी थी.

हम लोग दुनिया को देने वाले लोग हैं, न की लेने या छीनने वाले. उन्होंने आगे कहा कि आज विश्व में कोई भी हिन्दुस्तानी गर्व कर सकता हैं क्योंकि वर्तमान समय में कई देशों में अशांति पैदा हो गई हैं, लेकिन शांति बनाए रखने की ताकत ‘पीस कीपिंग फोर्सिंग’ सबसे ज्यादा हिन्दुस्तान के सिपाहियों में हैं. आज भी दुनिया के अनेक ऐसे अशांत इलाकों में भारत के जवान तैनात हैं| खबर एनडीटीवी इंडिया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *