हिलेरी को मिले २.५ लाख डॉलर आइंस्टीन की थ्योरी समझाने पर

हिलेरी

बहुत कम ही लोग हैं जो अल्बर्ट आइंस्टीन की थ्योरी ऑफ रिलेटिविटी को समझ पाते हैं पर इसे समझाना तो और भी मुश्किल माना जाता हैं और इसी काम को करने के लिए यानी इस थ्योरी को आसानी से समझाने के लिए एक १८ वर्षीय युवती को बहुत बड़ी राशि ईनाम में दी गई हैं. फिलीपींस की हाई स्कूल स्टूडेंट हिलेरी डायने एंडलेस को ब्रेकथ्रू जूनियर चैलेंज में विजेता के तौर पर $२,५०,००० की इनामी राशि दी गई.

स्टूडेंट ने आइंस्टीन के  थ्योरी ऑफ रिलेटिविटी को सबसे आसान तरीके से समझाया ताकी सबको समझ आ सके. स्टूडेंट ने अपने प्रयासों को यूट्यूब वीडियो रिकॉर्ड किया और इसे ब्रेकथ्रू जूनियर चैलेंज में अक्टूबर में शामिल किया.  ब्रेकथ्रू जूनियर चैलेंज एक वैश्विक प्रतियोगिता हैं, इसे इसलिए बनाया गया हैं ताकि स्टूडेंट्स को एडवांस साइंस में रूची लेने के लिए प्रेरित किया जा सके. इसके विनर को ईनाम के तौर पर बड़ी धनराशि दी जाती हैं.

ब्रेकथ्रू जूनियर चैलेंज की शुरुआत गूगल के को फाउंडर सर्गी ब्रिन, यूट्यूब के हेड ऐनी वॉजिकी, फेसबुक के फाउंडर मार्क जुकरबर्ग और उनकी पत्नी प्रिस्किला चैन, अलीबाबा के फाउंडर जैक मा और बाकी दूसरे लोगों ने की हैं ताकी फिलीपींस की हिलेरी डायने एंडलेस की तरह ही बाकी बच्चों को भी साइंस की समझ बढ़ाने के लिए प्रेरित किया जा सके. वीडियो में १८ वर्षीय हिलेरी डायने एंडलेस ने आसान भाषा और रोजमर्रा के उदाहरणों की मदद से फिजिक्स के इस कठीन थ्योरी को आसानी से समझाया हैं| खबर आजतक

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *