सहारनपुर में फिर भड़की जातीय हिंसा, योगी ने भेजी अफसरों की टीम

बीते मंगलवार यूपी के सहारनपुर में फिर भड़की जातीय हिंसा और हालात को कंट्रोल करने के लिए योगी सरकार ने बड़े अफसरों की एक पूरी टीम सहारनपुर भेजी इस गंभीर स्थिति को संभालने के लिए कल रात चार बड़े अफसर को लखनऊ से सहारनपुर भेजा गया इन्हें रात को ही स्टेट प्लेन से रवाना किया गया साथ ही गाजियाबाद, मेरठ, अलीगढ़ और आगरा से पांच पीएसी के कमाडेंट भी सहारनपुर पहुचे इसके साथ ही सीएम योगी ने शांति की अपील करते हुए हिंसा में मारे गए युवक के प्रति संवेदना व्यक्त की और भरोसा दिलाया कि दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी

मंगलवार को बीएसपी सुप्रीमो मायावती के दौरे के बाद शब्बीरपुर से लौट रहे बसपा कार्यकर्ताओं की गाड़ी पर जाति विशेष के लोगों ने हमला किया और मायावती के कार्यक्रम से लौट रहे एक शख्स की गोली मारकर हत्या कर दी ऐसे में हालात और खराब न हों यह सुनिश्चित करने के लिए सरकार ने गृह सचिव मणि प्रसाद मिश्रा, एडीजी लॉ ऐंड ऑर्डर आदित्य मिश्रा, आईजी एसटीएफ अमिताभ यश और डीआईजी सिक्यॉरिटी विजय भूषण को सहारनपुर भेजा गया ये सभी अधिकारी हालात सामान्य होने तक वहीं मौजूद रहेंगे

घटना में मारे गए युवक के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए सीएम योगी ने कहा कि इस घटना के दोषी व्यक्तियों की पहचान कर उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी इसमें मामले में जो भी लापरवाही हुई हैं उससे संबंधित अधिकारियों और लोगो को जरुर सजा दी जाएगी मुख्यमंत्री ने धैर्य और संयम बनाए रखने के साथ-साथ विपक्षी दलों सहित सभी लोगों से शांति बहाली में सहयोग करने की अपील की और कहा यह सरकार सबकी हैं जाति, पंथ, मजहब के आधार पर कोई भेदभाव नहीं किया जाएगा

इस मामले पर सरकार के प्रवक्ता श्रीकांत शर्मा ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री के पहुंचने से तनाव और अशांति का माहौल फिर बना और दुर्भाग्यपूर्ण घटना घटित हुई, जिसमें निर्दोष युवक मारा गया उन्होंने कहा कि नई सरकार के उपलब्धियों भरे दो महीने के कार्यकाल को विपक्षी दल पचा नहीं पा रहे करारी हार से निराश विपक्ष षड्यंत्रकारी गतिविधियों में लग गया हैं  सरकार इन नापाक मंसूबों को कामयाब नहीं होने देगी और जल्द ही ऐसे षड्यंत्रकारियों का पर्दाफ़ाश करेगी | खबर नवभारत टाइम्स

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *