बिहार में जानलेवा बाढ़ ने लेली सैकडों की जान अभी बढ़ सकता हैं ख़तरा और

बाढ़बिहार की अधिकतर नदियों का जलस्तर कम तो हो रहा हैं, लेकिन हफ्तेभर से बेहाल बाढ़ पीडि़तों की मुश्किलें कम नहीं हुई हैं. राज्य के १७ जिलों में बाढ़ की स्थिति गंभीर बनी हुई हैं जिसके कारण बिहार के बाढ़ आपदा में मरने वालों की संख्या आज २०० के करीब पहुच चुकी हैं और बाढ़ प्रभावित जिलों में फंसे हुए लोगों की संख्या एक करोड़ से पार.

वही नेपाल के करीब पूर्वी उत्तर प्रदेश के जिलों में राहत एवं बचाव कार्य के लिए सेना को बुलाया गया हैं इसके साथ ही असम और बंगाल में भारी बारिश नहीं होने से हालात में थोड़ा सुधार हुआ हैं. एक तरफ मौसम कार्यालय ने बताया हैं कि पटना, गया, भागलपुर और पूर्णिया में गरज के साथ बारिश होने की भी आशंका हैं जिससे खतरे के और बढ़ने की संभावना हैं. एक अधिकारिक बयान में बताया गया कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बाढ़ की स्थिति की समीक्षा करके अधिकारियों को जरूरी निर्देश दिए हैं.

उन्होंने पूर्वी चंपारण के क्षेत्रों में हवाई मार्ग से खाद्य पदार्थों के पैकेटों के वितरण को तेज करने को कहा हैं. राष्ट्रीय आपदा मोचन बल की १,१५२ सदस्यों वाली २८ टीमें ११८ नाव की मदद से प्रभावित क्षेत्रों में राहत और बचाव कार्य में लगी हैं. आपदा प्रबंधन विभाग ने एक विज्ञप्ति में बताया कि २२२८  कर्मियों के साथ सेना की सात टीम २८० नाव की मदद से राहत और बचाव कार्य में मदद कर रही हैं| खबर दैनिक जागरण

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *