आदर्शो में रहे और माँ बाप की सुने : संजय चौधरी

-Harsh Raj

sanjay choudharyछोटे परदे पे अपनी लुभावनी अदाकारी से अपने नाम की मुहर लगाने वाले संजय चौधरी चिड़िया घर और लापतागंज के चर्चित किरदारों में से एक इनसे खास बात चित के कुछ अंश और उनकी बाते पढ़े और सुने भी

इतनी कम उम्र में इतना कुछ कैसे हासिल कर लिया आपने ?

हा उम्र तो काफी कम हैं पर स्ट्रगल मैंने ट्वेल्थ से ही सुरु कर दिया था ट्वेल्थ के बाद में देल्ही गया वहा थिएटर्स किया ढाई तीन साल वहा भी दिया पढाई के साथ थिएटर्स भी करता था पढाई को मैं पार्ट टाइम करता था और प्लेस रेगुलरली फिर उसके बाद मुम्बई सिफ्ट हुआ फिर वहा भी भाग दौड़ ऑडिशन्स पहले से कोई जान पेहचान थी नहीं इंडस्ट्री में तो अकेले ही सब कुछ कर रहा हु घर वालो ने शुरुआत में फाइनेंसियली सपोर्ट किया पर बहुत दिन जब काम नहीं मिला तो घर वालो ने भी कहा की अब नहीं हो पा रहा पर फिर धीरे धीरे काम मिलना सुरु हो गया तो मैं अपने पैरो पे खड़ा हुआ और घर वालो से जितना होसका उतना उन्होंने किया और कहते हैं की जब भी तुझे किसी चीज़ की जरुरत होतो हम हैं बड़े वाले भाई ने काफी सपोर्ट किया |

एक किरदार निभाया था आपने फ़िल्म “मेरे डैड की मारुती” में उसका अनुभव कैसा रहा और आपकी अगली फ़िल्म कब देखने को मिलेगी अब ?

ये फ़िल्म यश राज बैनर की थी हलाकि जब मैं मुंबई आया, तब जहा थिएटर्स करता था वहा मुझे ऑडिशन्स के लिए कॉल आया और उसके बाद वहा मुझे फाइनल किया गया लेकिन वहा के जो लोग हैं काफी हाई स्टैण्डर्ड के हैं उनके साथ बात करना मेरे लिए काफी टफ था, फ़िल्म में मैं रवि किशन जी का असिस्टेंट था इरफ़ान इसके पहले मैंने कोई बड़ा काम नहीं किया था मिला जुला के लोगो ने ट्रीट भी अच्छा किया एक्सपीरियंस अच्छा रहा मजा आया काम करके और मार्च में एक फ़िल्म रिलीज़ हो रही हैं “प्यार का पंछी” उसमे मेरा एक बहुत अच्छा कैरेक्टर आप लोगों को देखने को मिलेगा |

बहुत से धारावाहिको में काम किया आपने पर आपको किस धारावाहिक में काम करके  सबसे ज्यादा मजा आया ?

मैंने काफी शोज किए लाइक लापतागंज, नीलिछत्रि वाले, कृष्ण कन्हैया, पीटरसन हिल, गुमराह, क्राइम पेट्रोल और भी बहुत सारे पर मुझे लापतागंज, पीटरसन हिल, और गुमराह में काम करके बहुत मजा आया क्योकि इसमें थोड़े डिफरेंट कैरेक्टर्स थे मेरे लिए जो मुझे बहुत पसंद आए |

sanjay choudharyआप की शिक्षा कहा तक हुई हैं और क्या क्या परेशानिया आई आपको अपने अभिनय और शिक्षा के बीच?

मैं हरियाणा का हु और हरियाणा बोर्ड से ट्वेल्थ किया फिर देल्ही गया मेरा पूरा फोकस इसी फील्ड में था जाना इसी लाइन में था घर वालो से झूट बोला की मुझे पढाई के लिए देल्ही जाना हैं पर मुझे वहा जाके थिएटर्स करना था और साथ में मास-कम्युनिकेशन किया और अभी भी और पढ़ने की चाह हैं शायद सिर्फ थिएटर्स के लिए कहता तो वो लोग मुझे ना भेज पाते फिर घर वालो को भी पता लग गया की इसका इंट्रेस्ट इसी फील्ड में हैं तो इसे यही करने दो फिर धीरे धीरे घर वालो को मनाया और देल्ही फिर वहा से मुंबई गया दिक्कते तो आई पर सब ठीक रहा |

आपका पसंदीदा होलीडे डेस्टिनेशन कौन सा हैं और वहा समय बिताना क्यों पसंद हैं आपको ?

अभी ऐसा तो कुछ तय नहीं किया मैंने पर जब भी खाली समय मिलता हैं तो मैं अपनी फैमिली अपने मम्मी पापा के साथ समय बिताना पसंद करता हु और एक बार भारत भ्रमण जरूर करना चाहूँगा देखना चाहूँगा की जब भारत में सब चीज़ हैं तो हमें बाहर जाने की जरुरत क्या हैं इस लिए मैं एक बार पूरा भारत अपनी फैमिली के साथ घूमना चाहूँगा |

इंडियन फ़िल्म इंडस्ट्री में आप किसे अपना आदर्श मानते हैं और उनके साथ आपका रिश्ता कैसा हैं ?

मैं इंडस्ट्री में सबसे ज्यादा इंस्पायर रणबीर कपूर से हु लेकिन मेरा उनसे कोई रिलेशन नहीं हैं मैं आजतक उनसे मिला भी नहीं हु लेकिन काफी हद तक मैं उन्हें फॉलो करता हु और उनकी सारी मूवीज भी देखता हु मुझे अच्छा लगता हैं लेकिन एक बार उनके साथ काम करना चाहूँगा काफी वर्सेटाइल एक्टर हैं और उनसे पूछूँगा भी आखिर ये सब कैसे कर लेते हैं आप मुझे भी कुछ हुनर बताइए अपना |

आप इस देश के युथ का एक हिस्सा हैं और आपने एक अच्छा नाम हासिल किया हैं अपने काम से तो क्या कहना चाहेंगे आप इस युथ को ?

आज की जो न्यू जनरेशन हैं काफी अपग्रेडेड लोग हैं अच्छी बात हैं आप सब करो पार्टीज करो घुमो फिरो लेकिन आदर्शो में रेह के जैसे की हमारे माँम डैड हैं कभी उनके खिलाफ हो जाते हैं ऐसा नहीं करे गार्डियन्स को सब बता के उनकी इजाजत के साथ करे |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *