शिवराज सिंह ने नेहरू को बताया ३७० का अपराधी

शिवराजशिवराज सिंह चौहान ने भी ऐसा ही बयान दिया

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद ३७० को निष्क्रिय किए जाने के बाद भारतीय जनता पार्टी के नेताओं का विवादित बयान देने का सिलसिला जारी हैं. हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के बाद अब मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी के नेता शिवराज सिंह चौहान ने भी ऐसा ही बयान दिया हैं. शिवराज सिंह चौहान ने कहा हैं कि जवाहरलाल नेहरू अपराधी हैं.

न्यूज एजेंसी एएनआई के अनुसार शिवराज सिंह चौहान ने पत्रकारों के साथ बातचीत में कहा की जब भारतीय सेना कश्मीर से पाकिस्तानी कबाइलियों का पीछा कर रही थी, तो उन्होंने (जवाहरलाल नेहरू) युद्ध विराम की घोषणा कर दी. कश्मीर के एक-तिहाई हिस्से पर पाक का कब्जा हैं. अगर कुछ और दिनों के लिए युद्धविराम नहीं होता, तो पूरा कश्मीर हमारा होता.

शिवराज सिंह चौहान ने कहा, जवाहरलाल नेहरू का दूसरा अपराध ३७० हैं. उन्होंने कहा कि, ‘एक देश में दो निशान, दो विधान, दो प्रधान, यह एक देश के साथ अन्याय नहीं बल्कि उसके खिलाफ अपराध हैं.’ बता दें कि कश्मीर की बेटियों पर शर्मनाक तंज को लेकर निशाने पर आए हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को सफाई देनी पड़ी.

देश की हर बेटी हमारी बेटी हैं

उन्होंने कहा की मैं कश्मीर की लड़कियों को अपनी बेटियां मानता हूं. मेरा आशय कोई गलत टिप्पणी करने का नहीं था. देश की हर बेटी हमारी बेटी हैं. इससे पहले शुक्रवार को सीएम खट्टर ने विवादित बयान देते हुए कहा था कि अनुच्छेद ३७० के हटने के बाद अब लड़कियों को शादी के लिए कश्मीर से लाया जा सकता हैं. अब हम भी शादी के लिए कश्मीरी लड़की ला सकते हैं.

गौरतलब हैं कि जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद ३७० के जरिए मिले विशेष राज्य का दर्जा खत्म कर दिया गया हैं. जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन बिल के संसद से पास होने के बाद जम्मू-कश्मीर और लद्दाख केंद्र शासित प्रदेश के रूप में ५ अक्टूबर २०१९ को भारत के नक्शे पर अवतरित होगा.

राष्ट्रपति के हस्ताक्षर के बाद केंद्र सरकार ने इस संबंध में घोषणा करते हुए कहा कि जम्मू-कश्मीर और लद्दाख ३१ अक्टूबर को केंद्र शासित प्रदेश के रूप में अस्तित्व में आ जाएंगे| खबर आजतक

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *