शहाबुद्दीन के भतीजे की गोली मारकर हत्या

शहाबुद्दीन
राष्ट्रीय जनता दल के पूर्व सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन के भतीजे युसूफ की हत्या

बिहार के सीवान के नगर थाना क्षेत्र के दक्षिण टोला में शुक्रवार देर रात राष्ट्रीय जनता दल के पूर्व सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन के भतीजे युसूफ की गोली मारकर हत्या कर दी गई. बताया जा रहा हैं की  युसूफ को काफी करीब से गोली मारी गई, जिसके बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया.

आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद के करीबी रहे पूर्व सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन को ९ दिसंबर, २०१५ को हत्या का दोषी ठहराया गया था और आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई थी. पिछले साल ३० अगस्त को उच्च न्यायालय ने उनकी सजा को बरकरार रखा था.  गैंगस्टर से राजनेता बने मोहम्मद शहाबुद्दीन पर हत्या और अपहरण से संबंधित लगभग ६३ मामले दर्ज हैं.

उधर, मुजफ्फरपुर में एक मुठभेड़ में पुलिस ने कुंदन सिंह नाम के एक अपराधी को मार गिराया हैं. वहीं, दो अपराधी बचकर भागने में सफल रहे. पुलिस ने एके४७ बरामद किया हैं. मोहम्मद शहाबुद्दीन का जन्म १० मई, १९६७ को सीवान जिले के प्रतापपुर में हुआ था. उन्होंने अपनी शिक्षा दीक्षा बिहार से ही पूरी की थी.

शहाबुद्दीन ने कॉलेज से ही अपराध और राजनीति की दुनिया में कदम रखा था

राजनीति शास्त्र में एमए और पीएचडी करने वाले इस बाहुबली नेता ने हिना शहाब से शादी की थी. उनका एक बेटा और दो बेटी हैं. पूर्व सांसद ने कॉलेज से ही अपराध और राजनीति की दुनिया में कदम रखा था. उन्होंने कुछ ही वर्षों में अपराध और राजनीति में काफी नाम कमाया. राजनीतिक गलियारों में  मोहम्मद शहाबुद्दीन का नाम तब चर्चाओं में आया जब उन्होंने लालू प्रसाद यादव की छत्रछाया में जनता दल की युवा इकाई में कदम रखा.

पार्टी में आते ही उन्होंने को अपनी ताकत और दबंगई का फायदा मिला. उन्हें १९९० में विधानसभा का टिकट मिला. उन्होंने इस चुनाव में जीत हासिल की. उसके बाद फिर से १९९५ में उन्होंने चुनाव जीता. उनके बढ़ते कद को देखते हुए पार्टी ने १९९६ में उन्हें लोकसभा का टिकट दिया और शहाबुद्दीन की जीत हुई. १९९७ में आरजेडी के गठन और लालू प्रसाद यादव की सरकार बन जाने से शहाबुद्दीन की ताकत और बढ़ गई थी| खबर आजतक

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *