शहरों का नाम बदलने से पहले अपने मुस्लिम नेताओं का नाम बदलें योगी : राजभर

शहरों

नाम बदले जाने के फैसले का विरोध

योगी सरकार के मुगलसराय स्टेशन, इलाहाबाद और फैजाबाद का नाम बदले जाने के फैसले का विरोध करते हुए उत्तर प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर इसे मुद्दों से भटकाने के लिए किया गया ‘नाटक’ करार दिया. साथ ही नसीहत भी दी कि भाजपा सरकार शहरों का नाम बदलने से पहले अपने मुस्लिम नेताओं का नाम बदलें.

अपने बयान में मंत्री राजभर ने कहा कि भाजपा ने मुगलसराय, इलाहाबाद और फैजाबाद का नाम बदल दिया, क्योंकि वह मुगल के नाम पर थे, यह सरासर गलत हैं. उन्होंने भाजपा के तीन मुस्लिम नेताओं राष्ट्रीय प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन, केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी और प्रदेश सरकार के मंत्री मोहसिन रजा का नाम लेते हुए कहा कि भाजपा के तीन मुस्लिम चेहरे हैं.

भाजपा शहरों का नाम बदलने से पहले इन मुस्लिम नेताओं का नाम बदले. राजग में शामिल सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष राजभर ने कहा की यह सब नाटक हैं, जब भी पिछड़े और शोषित वर्ग अपने अधिकार मांगने के लिए अपनी आवाज बुलंद करते हैं तो उनका ध्यान भटकाने के लिए भाजपा कोई न कोई नया मुद्दा छेड़ देती हैं.

उन्होंने कहा कि मुस्लिमों ने जो निर्माण कार्य देश में कराया, वह किसी और ने नहीं कराया. राजभर ने भाजपा सरकार से सवाल किया कि ‘क्या हम जीटी रोड उखाड़कर फेंक दें? लालकिला और ताजमहल को गिरा दें? इलाहाबाद और फैजाबाद का नाम सिर्फ इसलिए बदल देना, क्योंकि वह मुस्लिमों के नाम पर हैं, यह सरासर गलत हैं.

अगर यही सब करना हैं तो भाजपा ‘सबका साथ सबका विकास’ का नारा देकर जनता को बेवकूफ बनाना छोड़ दे| खबर एनडीटीवी इंडिया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *