शराब के बाद बिहार में खैनी भी होगी बैन

शराब
सब कुछ सही रहा तो राज्य की नीतीश सरकार खैनी को बैन कर सकती हैं

शराब को बैन करने के दो वर्षों बाद बिहार सरकार एक और बड़ा कदम उठाने की तैयारी कर रही हैं. अगर सब कुछ सही रहा तो राज्य की नीतीश सरकार खैनी को बैन कर सकती हैं. राज्य सरकार ने केंद्र को एक पत्र लिखा हैं जिसमें खैनी को खाद्य उत्पाद के रूप में सूचित करने का अनुरोध किया गया हैं.

खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण द्वारा खाद्य उत्पाद के रूप में अधिसूचित किए जाने के बाद, सरकार के पास स्वास्थ्य आधार पर खैनी पर प्रतिबंध लगाने की शक्ति होगी. समाचार समूह इंडिया टुडे से बात करते हुए बिहार के प्रधान सचिव संजय कुमार ने पुष्टि की हैं कि उन्होंने केंद्र सरकार को एक पत्र लिखा हैं.

उन्होंने कहा कि बिहार में हर पांचवां शख्स खैनी का सेवन करता हैं. उन्होंने कहा कि हमारे पास नियम हैं जो सिगरेट के रूप में तंबाकू के उपयोग को नियंत्रित करते हैं, लेकिन खैनी की खपत ज्यादा हैं जिस पर ध्यान देने की जरूरत हैं. उन्होंने यह भी दावा किया कि बिहार में तंबाकू की खपत में कुल मिलाकर गिरावट दर्ज हुई हैं.

पिछले सात साल में, तंबाकू की खपत की ५३ प्रतिशत से घटकर २५ प्रतिशत हो गई हैं,  हालांकि, खैनी का उपभोग करने वाले लोगों की संख्या चिंताजनक रही हैं. ये भी पाया गया हैं कि मुंह में कैंसर होने के पीछे खैनी ही मुख्य कारण रहा हैं| खबर आजतक

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *