कोरोना न आ सका छठ पूजा के आड़े बल्कि आई अच्छी खबर

कोरोनापूरी दुनिया कोरोना वायरस के कहर से भयभीत

इन दिनों पूरी दुनिया जहा कोरोना के कहर से भयभीत हैं लाखो जाने जा चुकी हैं और भारत का आकड़ा १ अप्रैल की सुबह ये हैं की १६५७ करोना मरीज़ मिल चुके हैं जिनमे से १५० दुरुस्त कर दिए गए हैं और इस महामारी के कारण ५०कि सांसे थम चुकी हैं. इसी बिच आस्था का महापर्व छठ जो वर्ष में दो बार मनाया जाता हैं. चार दिनों के इस महापर्व की शुरुआत नहाय-खाय के दिन से होती हैं और इसके अगले दिन खरना मनाया जाता हैं,

जबकि षष्ठी को संध्या अर्घ्य एवं सप्तमी के उगते सूरज को अर्घ्य दिया जाता हैं. यह पर्व चैत्र और कार्तिक माह में शुक्ल पक्ष की षष्ठी को मनाई जाती हैं. इस वर्ष चैती छठ का पहला अर्घ्य सोमवार ३० मार्च को और मंगलवार ३१ को दुसरे अर्घ्य के साथ संपन हुआ. इस बार कयास लगाईं जा रही थी की छठ का ये पावन पर्व नहीं मनाया जा सकेगा क्योकि सोसल डिस्टेंसइंग की वजह से सरकार ने भीड़ इकठी होने पर रोक लगाईं हैं और सभी धार्मिक स्थल भी बंद हैं ‘क्योकि जान हैं तो जहान हैं’

कोरोना की इतनी बिषाद कहा की छठी मैया के श्रधालुओं की श्रधा को रोक सके

पर आस्था के इस देश भारत में जहा लोगो के दुःख भगवान् के नाम लेने से दूर हो जाते तो कोरोना की इतनी बिषाद कहा की छठी मैया के श्रधालुओं की श्रधा को रोक सके. इसी बिच देश के कोने-कोने से छठ पूजा की तस्वीरे आने लगी की लोगो ने घर में ही सूर्य देव को अर्घ दिया और सफलतापूर्ण छठ की पूजा अर्चना की बता दे की भोजपुरी फिल्म जगत की चर्चित गाइका गोपालगंज की प्रियंका सिंह के घर भी छठ की पूजा पूरी श्रधा के साथ की गई जिसकी कुछ तस्वीरे उन्होंने साझा की हैं,

कहा जाता हैं ‘जहा चाह वहा राह’ इसे सच कर दिखाया छठ के व्रतियों ने इस कामना के साथ की सूर्य देव व छठी मैया दुनिया को इस महामारी से निजात दिलाएंगी और जल्द सब ठीक हो जायेगा. इसी के साथ न्यूज़ एजेंसी जी बिज़नस की एक खबर आई हैं की, अमेरिका के फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेटर (एफडीए) ने कोरोना वायरस (कोविड-१९) की दवा को मंजूरी दे दी हैं. यूएसएफडीए ने मलेरिया के इलाज में इस्तेमाल होने वाले दो दवाओं को मंजूरी दी हैं.

इससे कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों का इलाज हो सकेगा. एफडीए ने कोरोना वायरस के मरीजों के इलाज के लिए आपातकाल में मलेरिया की दो दवाओं के सीमित प्रयोग को इसलिए मंजूरी दे दी हैं क्योंकि कोविड-१९ की अभी तक कोई दवा या वैक्सीन नहीं खोजी गई हैं|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *