कैराना नूरपुर हम जीतेंगे भले विरोधी दल मिले हैं : योगी

कैराना
कैराना सीट पर होने वाले उपचुनाव के लिए प्रचार जोर शोर से

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कैराना लोकसभा सीट पर होने वाले उपचुनाव के लिए जोर शोर से प्रचार में जुटे हैं. उन्होंने गुरुवार को यहां पर एक जनसभा को संबोधित किया. उन्हें उम्मीद हैं कि चाहे समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी साथ होकर उनके खिलाफ आवाज बुलंद करें पर जीत बीजेपी की ही होगी.

उत्तर प्रदेश के शामली में आजतक से बात करते हुए योगी ने विपक्षी दलों के गठबंधन पर निशाना साधा और कहा कि विरोधी दल मिले हैं, दिल नहीं मिला हैं. उन्होंने कहा, ‘समाजवादी पार्टी खुल के सामने भी नहीं आ सकी. इसीलिए समाजवादी पार्टी दूसरे उम्मीदवार के कंधे पर बंदूक रख के निशाना साध रही हैं, दूसरी पार्टी के उम्मीदवार को समर्थन देकर चुनावी मैदान में खड़ी हैं.

उन्होंने कैराना लोकसभा उपचुनाव में पलायन और दंगे को मुद्दा बनाकर आगे बढ़ने का प्लान तैयार किया हैं. उन्होंने कहा की समाजवादी पार्टी शायद मुजफ्फरनगर की उत्पीड़न और पूर्व में यहां हुए पलायन को भूल गई हैं लेकिन यहां की जनता नहीं भूली हैं. हमारी सरकार बनने के बाद हमने पलायन भी रोका और उत्पीड़न भी रुकवाया.

सुशासन स्थापित करके दिखाया

सीएम योगी ने कहा कि हमने विकास को एक गति दी हैं, सुशासन भी स्थापित करके दिखाया हैं. किसानों के उत्थान के लिए काम किया हैं. आगे भी इसी तर्ज पर विकास और सुशासन के लिए काम कर रहे हैं. अपने काम की बात करते हुए योगी ने कहा की पहले १ लाख ९३ हजार करोड़ रुपये की गन्ने की पेराई होती थी जिसे बढ़ाकर हम सवा ३ लाख करोड़ रुपये की पेराई तक ले गए.

किसान इस बात से आश्वस्त हैं कि विगत वर्ष का गन्ना मूल्य उसे १०० फीसदी मिल चुका हैं. उन्होंने कहा कि जब हम पिछले वर्ष सरकार में आए तो लगभग पिछले ६ साल के गन्ना मूल्य का भुगतान भी हमें कराना पड़ा. उन्होंने कहा कि गोरखपुर, फूलपुर पीछे छोड़ चुके हैं, कैराना, नूरपुर नया अध्याय होगा. अवसर सबके लिए हैं, मगर दंगा और अपद्रव करने वालों के लिए नहीं हैं.

सभी की तरह हिन्दुओं को भी अधिकार हैं

योगी ने विपक्ष पर हमला बोलते हुए कहा की यहां तो कावड़ यात्रा को रोकने तक की कोशिश की गई. वो कहते हैं कि लाउडस्पीकर बंद करो. लेकिन यात्रा क्यों नहीं जा सकती? यह एक लोकतांत्रिक देश हैं जहां सभी की तरह हिन्दुओं को भी अधिकार हैं. उन्होंने कहा कि अगर कुछ लोगों को हमारे त्योहारों से दिक्कत हैं तो हम क्यों उनके प्रति सहिष्णुता दिखाएं.

हम कावड़ियों को सभी प्रकार की सुविधाएं देंगे. किसी को भी अराजकता फैलाने की इजाजत नहीं मिलेगी. योगी ने शामली में स्थानीय मुद्दों को भी उठाया. उन्होंने ट्रैफिक जाम, शिक्षकों कौ नौकरी, युवाओं को रोजगार के मौके जैसे मुद्दों पर बात की. उन्होंने चौधरी चरण सिंह के कामों की तारीफ की और गन्ना किसानों के लिए उनके काम को सराहा लेकिन कहा कि जब बीजेपी सत्ता में आई तो खजाना खाली था. कुछ नहीं मिला हमें.

साथ ही उन्होंने कहा कि ऐसे वक्त में मदद के लिए मैं अपने मंत्रियों को धन्यवाद करता हूं. उन्होंने आरएलडी नेता जयंत चौधरी पर हमला बोला और कहा कि कुछ लोग गन्ना और जिन्ना में एक को चुनने के लिए कहते हैं लेकिन मैं बता दूं कि हमें गन्ना चाहिए लेकिन जिन्ना की तस्वीर नहीं| खबर आजतक

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *