अंबेडकर भगवान नहीं की मूर्ति को दूध से धोया गया : सावित्री बाई

अंबेडकर
अंबेडकर की मूर्ति को दूध से नहलाकर उसका शुद्धिकरण किया

बीजेपी नेताओं ने उत्तर प्रदेश के अंबेडकर नगर में बाबा साहेब की मूर्ति को दूध से नहलाकर उसका शुद्धिकरण किया हैं. इतना ही नहीं बीजेपी नेताओं ने अंबेडकर की मूर्ति को दूध से नहलाने के बाद भगवा वस्त्र भी पहनाया. अब इस पूरे मामले में बहराइच से बीजेपी सांसद सावित्री बाई फुले ने अपनी ही पार्टी को निशाने पर लिया हैं.

फुले ने कहा, ‘अंबेडकर की मूर्ति को भगवा कर दिया गया. वह जब जीवित थे तो इस चीज से नफरत करते थे. फुले यहीं नहीं रुकीं. उन्होंने कहा की उनकी मूर्ति को दूध से धोया गया था. वह भगवान नहीं हैं. उन्होंने संविधान का निर्माण किया था. फुले ने कहा कि अंबेडकर का अपमान किया जा रहा हैं. बहराइच में उनकी मूर्ति को तोड़ा गया, जिसको अब तक ठीक नहीं किया गया.

मैं इस मामले में कार्रवाई को लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ से भी मिली थी, लेकिन अब तक किसी की भी गिरफ्तारी नहीं हुई. उन्होंने कहा कि अंबेडकर का लगातार अपमान किया जा रहा हैं और हर जगह उनकी मूर्तियों के साथ छेड़छाड़ किया जा रहा हैं. इससे बहुजन समाज के लोग निराशा महसूस करते हैं.

दलित समुदाय के लोगों को नुकसान पहुंचा

फुले ने कहा कि एससी-एसटी अधिनियम के कमजोर पड़ने से दलित समुदाय के लोगों को भी नुकसान पहुंचा हैं. देशभर में विरोध-प्रदर्शन के दौरान उन पर हमला किया गया था. प्रदर्शन में जिन लोगों की हत्या हुई थी उनको मुआवजा भी नहीं मिला. बीजेपी नीत सरकार के खिलाफ मुखर फुले ने कहा की मुझे लगता हैं कि बहुजन समुदाय के लोगों को बचाने के लिए सख्त कानून की आवश्यकता हैं.

मैं केंद्र सरकार से मांग करती हूं कि बहुजन समुदाय के लोगों की रक्षा के लिए सख्त कानून बनाया जाए. हर घंटे हमारे समुदाय के लोगों को निशाना बनाया जा रहा हैं. समाज में उनको कोई सम्मान नहीं मिल रहा हैं. बहुजन समाज के लोग अगर आवाज उठा रहे हैं तो उन्हें जेल में डाल दिया जा रहा हैं| खबर आजतक

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *